दिल की बिमारिओं को दूर करें कार्डियो योगा से

दिल की बीमारी से बचने के लिए रोजाना कम-से-कम आधा घंटा कार्डियो योगा करना सेहत के लिए बहुत जरूरी है। इससे वजन कम होता है, डायबीटीज का खतरा कम होता है, शरीर में फुर्ती बढ़ती है, बीपी कम हो जाता है और दिल की बीमारी की आशंका 25 फीसदी कम हो जाती है। कार्डियो योगा
 
दिल की बिमारिओं को दूर करें कार्डियो योगा से

दिल की बीमारी से बचने के लिए रोजाना कम-से-कम आधा घंटा कार्डियो योगा करना सेहत के लिए बहुत जरूरी है। इससे वजन कम होता है, डायबीटीज का खतरा कम होता है, शरीर में फुर्ती बढ़ती है, बीपी कम हो जाता है और दिल की बीमारी की आशंका 25 फीसदी कम हो जाती है।

कार्डियो योगा में तेज वॉक, जॉगिंग, साइकलिंग, स्विमिंग, एरोबिक्स, डांस आदि होते हैं। अगर तरीके से करें तो तेज वॉक जॉगिंग यानी हल्की दौड़ से भी बेहतर साबित होती है, क्योंकि जॉगिंग में जल्दी थक जाते हैं और घुटनों की समस्या होने का खतरा होता है। वॉक और ब्रिस्क वॉक में फर्क यह है कि वॉक में हम 1 मिनट में आम तौर पर 30-40 कदम चलते हैं जबकि ब्रिस्क वॉक में 1 मिनट में लगभग 70 कदम चलते हैं। जॉगिंग में 140 कदम चलते हैं।

योगा शुरू करने से पहले 5 मिनट पहले हाथ-पांव हिलाएं, हल्की जंपिंग आदि करें और खत्म करने के बाद 5 मिनट आराम से बैठ कर लंबी सांसें लें और छोड़ें।

नोट: योगा किसी भी वक्त कर सकते हैं लेकिन पूरा खाना खाने के दो घंटे बाद तक न करें। खाना खाने के बाद वॉक पर निकलने का भी दिल को कोई फायदा नहीं है। इसके लिए खाली पेट तेज वॉक करना जरूरी है। अगर एक बार में पूरा वक्त नहीं मिलता तो योगा दिन में दो बार में 15-15 मिनट के लिए भी कर सकते हैं।

From Around the web