महिलाएं अपने परिवार का बहुत ही अच्छी तरह से ख्याल रखती है लेकिन क्या खुद के लिए समय निकाल पाती है, जाने कुछ टिप्स

घर एवं बहार सब जगह महिलाएं मोर्चा संभाल तथा वह अपने प्रति भी खुद जिम्मेदार होती है और परिवार के प्रति भी जिम्मेदार रहती है कि अपने परिवार को अच्छी तरह से कैसे संभाला जाए लेकिन कभी-कभी अक्सर अपने प्रति लापरवाही बरसती हैं वह अपने परिवार की जिम्मेदारी संभालते संभालते अपनी और ध्यान ही नहीं
 
महिलाएं अपने परिवार का बहुत ही अच्छी तरह से ख्याल रखती है लेकिन क्या खुद के लिए समय निकाल पाती है, जाने कुछ टिप्स

घर एवं बहार सब जगह महिलाएं मोर्चा संभाल तथा वह अपने प्रति भी खुद जिम्मेदार होती है और परिवार के प्रति भी जिम्मेदार रहती है कि अपने परिवार को अच्छी तरह से कैसे संभाला जाए लेकिन कभी-कभी अक्सर अपने प्रति लापरवाही बरसती हैं वह अपने परिवार की जिम्मेदारी संभालते संभालते अपनी और ध्यान ही नहीं दे पाती हैं वह खाना बनाने का कोई शॉर्टकट तरीका अपनाती हैं तथा जल्दी जल्दी से काम निपटा दी हैं झटपट तैयार होने वाला पोस्टिक खाना बना कर ले जाती हैं या फिर कैंटीन में मिलने वाले खाने पर निर्भर रहती हैं इनका सेहत पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है इन के साइड इफेक्ट भी होते हैं कई छोटी-मोटी बीमारियों का शिकार हो सकते हैं जिससे परिवार की स्वास्थ्य बिगड़ जाता है और नई नई बीमारियों को चुनौती दी जाती है थकान चिड़चिड़ापन छोटी बड़ी बात पर गुस्सा आना नाखूनों में दर्द होना बालों का सुख जाना जैसे लक्षण देखे जा सकते हैं कोई भी व्यक्ति लंबे समय से किसी बीमारी से जूझ रहा उसको भी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है अगर वह परिवार पर ध्यान दें खासकर हेल्थी डाइट लें तो निश्चय ही इम्यून सिस्टम मजबूत होगा और बीमारियों से लड़ने में सहायक होगा वह एक सफल और अच्छा जीवन अपने परिवार के साथ व्यतीत कर पाएंगे|

साल भर महिलाएं कैसे रखें अपना ध्यान

सबसे पहले महिलाओं को अपना डाइट प्लान करना चाहिए हेल्दी खाने की चीजों को डाइट में शामिल करना चाहिए उनको कुछ हिस्सों में बांट देना चाहिए एक चौथाई हिस्से में कार्बोहाइड्रेट दूसरे हिस्से में हरी सब्जियां और फल फ्रूट तीसरे हिस्से में प्रोटीन युक्त भोजन चौथे हिस्से में तरल पदार्थ यानी कि दूध होना चाहिए

सुबह 5:00 बजे बिस्तर से उठ जाना चाहिए उसके बाद गर्म पानी पीकर चाय या कॉफी पानी पीने के आधे घंटे बाद पीनी चाहिए लेकिन ध्यान रहे बिस्तर पर सोते सोते चाय  ना पिए क्योंकि उसमें मौजूद कैफीन न्यूट्रीशन इनटेक को प्रभावित करती हैं ग्रीन टी या हर्बल टीपीए यह शरीर में से अपशिष्ट पदार्थों को निकालने में सहायक होती है

ब्रंच में हल्के फुल्के नेक्स्ट ले लेकिन ध्यान रखें इसको भरपूर नहीं खाएं वरना लंच करते समय ओवरराइटिंग होगी खाने में भोजन का बहुत ही परहेज रखना चाहिए याद रहे खाने में मीठा यानी कि शक्कर और नमक का सेवन बहुत ही कम मात्रा में करना चाहिए तले हुए खाने की जगह ग्रैंड नॉन स्टिक शुगर फ्री और एयर फ्रायर या कम ही में बनी की चीजें खाई इन सब को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए ताकि शरीर पर फैट ना हो पाए |

अपने पूरे दिन का आनंद लेने के लिए सुबह का नाश्ता अवश्य लेना चाहिए ताकि आपका दिन ऊर्जावान हो सुबह उठने के बाद 1 घंटे के अंदर अंदर नाश्ता कर लेना चाहिए यह सबसे पौष्टिक आहार है इसे लेने से हमारी पाचन प्रक्रिया में बहुत ही असर होता है इससे हमारा दिन अच्छा निकलता है और ध्यान रहे नाश्ते में हल्का भोजन हो ताकि थोड़ी देर बाद आपको फिर से भूख लगे और आप पोस्टिक आहार का ही पाचन करें |

घर में रेगुलर काम करने वाली महिलाएं आराम से बैठ कर अपना नाश्ता करना चाहिए और नाश्ते में स्नेक और मौसमी ले लेनी चाहिए उन्हें जंक फूड से परहेज करने चाहिए शक्कर और नमक को अवॉइड करना चाहिए इससे शरीर का कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है जिससे शरीर की पाचन क्रिया पर बहुत ही बुरा असर पड़ता है ध्यान रहे कि नाश्ता समय पर ही कर लेना चाहिए|

एक महिला अपने परिवार का बहुत ही अच्छी तरह से ख्याल रखती है लेकिन क्या वह अच्छी तरह से खुद के लिए समय निकाल पाती है उन्हें यह बात बहुत ही अच्छी तरीके से समझ नी हीं चाहिए

अगर आप रात का खाना 8:00 बजे से पहले कर लेते हो तो सोने से पहले दूध के साथ बादाम के ड्राई फ्रूट या फिर कोई जूस सोडा सूप आदि ले सकते हैं रात का खाना और सुबह का नाश्ता के बीच लंबा अंतराल होने से आपकी एसिडिटी पर असर पड़ता है तो ध्यान रहे कि सोते वक्त कुछ ना कुछ खाकर सोना चाहिए ताकि आपके सेहत पर बुरा असर ना पड़े |

शरीर में भारी मात्रा में हाइड्रेट रखने के लिए दिन में कम से कम 3 से 4 लीटर पानी पीना चाहिए पानी शरीर में डिटॉक्स को निकालने में कामयाब रहता है साथ ही त्वचा को हाइड्रेट रखता है |जिससे शरीर पर झुर्रियां नहीं पड़ती गर्मियों में फलों का जूस और सर्दियों में सुख आप भी सकते हैं|

भोजन में मैदा, चीनी कोमा तेल का इस्तेमाल कम से कम करना चाहिए इससे शरीर में कीटाणु पैदा होते हैं जिससे हमारे शरीर में पाचन क्रिया पर बुरा असर पड़ता है रिफाइंड चीनी की जगह शक्कर और गर्मियों में आंड इस्तेमाल करना बेहतर हैं इससे विषैले पदार्थ बनने की संभावना बढ़ जाती है तो जितना हो सके इस को कम करना चाहिए|

मासिक धर्म चक्र के कारण महिलाओं में खून की कमी होना एक आम बात है इसकी आपूर्ति के लिए उन्हें डाइट में आयरन विटामिन बी विटामिन 12 विटामिन सी और प्रोटीन से भरपूर खाद्य पदार्थों का नियमित सेवन करना चाहिए आयरन के लिए आहार यथासंभव लोहे की कढ़ाई में बनाए डॉक्टर की सलाह पर सत्ता में तीन बार विटामिन बी कंपलेक्स जिससे शरीर में आयरन की कमी पूरी हो सके और समय-समय पर अन्ना और जामफल कैल्शियम और पोटेशियम के लिए बहुत ही लाभदायक इसको आप सर्दी गर्मी किसी भी मौसम में ले सकते हैं |

मेनोपॉज के बाद महिलाओं में शरीर की कैल्शियम होने के कारण हड्डियां कमजोर हो जाती है और हड्डियों के अंदर सारी लक्षण बहुत ही कम हो जाते हैं दूध कमर राजमा काले चने, मशरूम सीफूड अंडे डाइट में शामिल करें | रोजाना कम से कम एक घंटा धूप सेकने चाहिए | तथा सुबह और शाम को वॉक पर जाना चाहिए तथा लूज कपड़े पहनने चाहिए और समय-समय पर थोड़ा-थोड़ा पानी पीना चाहिए गुनगुना ताकि आपके शरीर का पाचन तंत्र सही से काम करें |

From Around the web