2021 की पहली तिमाही में GDP में 30.1% की रिकॉर्ड वृद्धि

नई दिल्ली, 1 सितम्बर 2021. केंद्र सरकार ने चालू वित्त वर्ष 2021-2 की पहली तिमाही के GDP के आंकड़े जारी किए हैं. अप्रैल से जून 2021 तक GDP ग्रोथ रेट 30.1 फीसदी रही है। कोरोना लॉकडाउन के बाद पिछले साल की पहली तिमाही में जीडीपी माइनस 2.2 फीसदी थी। आरबीआई ने अप्रैल-जून 2021 की अवधि
 
2021 की पहली तिमाही में GDP में 30.1% की रिकॉर्ड वृद्धि

नई दिल्ली, 1 सितम्बर 2021.

केंद्र सरकार ने चालू वित्त वर्ष 2021-2 की पहली तिमाही के GDP के आंकड़े जारी किए हैं. अप्रैल से जून 2021 तक GDP ग्रोथ रेट 30.1 फीसदी रही है। कोरोना लॉकडाउन के बाद पिछले साल की पहली तिमाही में जीडीपी माइनस 2.2 फीसदी थी।

आरबीआई ने अप्रैल-जून 2021 की अवधि के लिए सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर 31.8 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया था। GDP में तेज वृद्धि इस बात का संकेत है कि अर्थव्यवस्था पटरी पर है।

केंद्रीय सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक वित्त वर्ष 2021-2 की पहली तिमाही में जीडीपी 4.5 लाख करोड़ रुपये थी। वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में यह 4.5 लाख करोड़ रुपये हो गया है। यानी पिछले साल की पहली तिमाही की तुलना में इस साल की पहली तिमाही में 20.1 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है.

कोरोना वायरस की दूसरी घातक लहर के बावजूद चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी में जो वृद्धि देखी गई वह वाकई में काफी महत्वपूर्ण है। कोरोना की दूसरी घातक लहर ने देश के अधिकांश हिस्सों में आंशिक रूप से लॉकडाउन कर दिया। हालांकि पूर्ण लॉकडाउन को पिछले साल की तरह लागू नहीं किया गया था।

चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 20.1 प्रतिशत की वृद्धि जीडीपी के आंकड़ों की आधिकारिक घोषणा के बाद से सबसे अधिक है।

उल्लेखनीय है कि वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में जीडीपी माइनस 7.5 फीसदी, दूसरी तिमाही में 4.5 फीसदी, तीसरी तिमाही में 0.7 फीसदी और चौथी तिमाही में यह 1.6 फीसदी था। पूरे साल 2020-21 के लिए जीडीपी माइनस 7.5 फीसदी रही।

From Around the web