जोजिला सुरंग बनेगी जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की जीवनरेखा, दिसंबर 2023 तक पूरा होगा काम : गडकरी

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को जोजिला सुरंग के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया। उन्होंने उम्मीद जताई कि सुरंग का कार्य निर्धारित अवधी से प
 
Zojila tunnel will become lifeline of Jammu and Kashmir and Ladakh, work will be completed by December 2023: Gadkari
केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को जोजिला सुरंग के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया। उन्होंने उम्मीद जताई कि सुरंग का कार्य निर्धारित अवधी से पहले ही दिसम्बर 2023 में पूरा हो जाएगा। इस सुरंग के तैयार होने के बाद साल भर लेह, लद्दाख़ का संपर्क श्रीनगर से बना रहेगा।
Zojila tunnel will become lifeline of Jammu and Kashmir and Ladakh, work will be completed by December 2023: Gadkari
गडकरी ने जोजिला सुरंग के जम्मू कश्मीर और लद्दाख दोनों सिरों पर चल रहे निर्माण कार्य का जायजा लिया। उनके साथ केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग राज्यमंत्री वीके सिंह भी मौजूद रहे।

दोनों मंत्रियों ने पहले श्रीनगर से सोनमर्ग को जोड़ने वाली जेड मोड़ सुरंग पर चल रहे कार्यों का निरीक्षण किया। तत्पश्चात उन्होंने जोजिला सुरंग के निर्माण कार्य का जायजा लिया। इस अवसर पर एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए गडकरी ने निर्माण कार्य की प्रगति पर संतोष जताया। उन्होंने कहा कि उम्मीद नहीं थी कि इतनी तेजी से निर्माण कार्य सम्भव हो पायेगा। इसके लिए उन्होंने मेघा इंजीनियरिंग इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एमईआईएल) और नेशनल हाइवे इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कार्पोरेशन लिमिटेड (एनएचआईडीसीएल) के अधिकारियों और इंजीनियरों की सराहना की।

केंद्रीय मंत्री ने जोजिला सुरंग के बन कर तैयार होने के बाद जम्मू कश्मीर और लद्दाख क्षेत्र के तीव्र विकास की उम्मीद जताई। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में सामाजिक, आर्थिक प्रगति के रास्ते विकास का मार्ग तैयार किया जायेगा । इससे रोजगार के अवसर पैदा होंगे और विश्व पटल पर जम्मू-कश्मीर और लद्दाख़ नये रूप में अपनी पहचान बनाएंगे।



केंद्रीय मंत्री ने इस दौरान जम्मू-कश्मीर और लद्दाख़ के विकास रूपरेखा भी पेश की। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में विकास के लिये कुल 52 सुरंग तैयार की जाएंगी। जम्मू कश्मीर में 32 और लद्दाख क्षेत्र में 20 सुरंगें बनेंगी। इतना ही नहीं, उन्होंने 6 महत्वपूर्ण सड़क परियोजनाओं का भी प्रमुखता से उल्लेख किया। इसमें जम्मू-श्रीनगर, जम्मू-लद्दाख-श्रीनगर, जम्मू-पूंछ, श्रीनगर-सोफिन, सायथन और खिलानी सड़क परियोजना शामिल है। इन परियोजनाओं का निर्माण कार्य प्रगति पर है और एक लाख करोड़ रुपये खर्च का अनुमान है।

इसके अलावा, जम्मू कश्मीर, लद्दाख क्षेत्र में विकास के लिये अगले दो साल में एक लाख करोड़ की धनराशि और खर्च की जायेगी। इस धनराशि का उपयोग विभिन्न सड़क परियोजनाओं पर किया जाएगा। गडकरी ने कहा कि इसके लिये डीपीआर तैयार किया जा रहा है।



जोजिला सुरंग बनेगी जम्मू कश्मीर-लद्दाख़ की जीवन रेखा



नितिन गडकरी ने जोजिला को एशिया की सबसे लंबी और दुनिया की सबसे ऊंची सुरंग बताया। उन्होंने कहा कि भविष्य में यह सुरंग जम्मू-कश्मीर, लद्दाख़ की जीवनरेखा बनेगी। वाई (y) दिशा में बनी इस सुरंग से पूरे वर्ष वाहनों का आवागमन रहेगा। इससे आर्थिक प्रगति का मार्ग भी सशक्त होगा। साथ ही देश के लिए सामरिक दृष्टि से भी यह सुरंग महत्वपूर्ण साबित होगी।

केंद्रीय मंत्री ने जोजिला सुरंग का निर्माण कर रही मेघा इंजीनियरिंग इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एमईआईएल) की जमकर सराहना की। गडकरी ने कहा कि यह कम्पनी अपने हर प्रोजेक्ट को तय समय से पहले पूरा करती है। एमईआईएल के प्रबंध निदेशक (एमडी) कृष्णा रेड्डी की उपस्थिति में गडकरी ने कहा कि जोजिला सुरंग को भी यह कम्पनी तय समय से पहले दिसम्बर, 2023 में पूरा कर लेगी। उन्होंने मजाकिया लहजे में कहा कि हमें 2024 में आम चुनाव में जाना है।

From Around the web