जवान के अंतिम दर्शन के लिए उमड़े ग्रामीण, राह में बिछाए फूल

 
Villagers gathered for the last glimpse of the jawan flowers were laid on the road

पाली, 27 सितंबर  रोहट क्षेत्र के काला पीपल की ढाणी में सेना के जवान प्रहलाद चौधरी की देह को रविवार देर शाम नम आंखों के साथ सैन्य सम्मान से अंतिम विदाई दी गई।

उनके अंतिम दर्शन के लिए ग्रामीणों का हुजूम उमड़ पड़ा। जिस रास्ते से उनकी अंतिम यात्रा निकली, वहां ग्रामीण फूल बरसाते तथा भारत माता के जैकारे लगाते रहे।

गांव में पूरे रास्ते ग्रामीण घरों की छतों पर बैठे रहे। सैनिक प्रहलाद की अंतिम यात्रा में हजारों ग्रामीण पहुंचे तथा उन्हें नम आंखों के साथ अंतिम विदाई दी।

6 माह के पुत्र ने उन्हें मुखाग्नि दी। काला पीपल की ढाणी निवासी सैनिक प्रहलादसिंह चौधरी पुत्र अनाराम जाट बागडोगरा, पश्चिम बंगाल में आर्मी में सेवाएं दे रहे थे।

ड्यूटी के दौरान बीमार होने से उनकी मौत हो गई। सैनिक की पार्थिव देह घर पहुंची तो परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। जिन्हें रिश्तेदारों व ग्रामीणों ने संभाला।

तिरंगे में लिपटे सैनिक की शव यात्रा गांव के जिस रास्ते से गुजरी वहां ग्रामीणों ने फूल बरसा कर उन्हें अंतिम विदाई दी। घरों की छतें तक ग्रामीणों से अटी रही।

जवान को दादा के हाथों गोद में लिए हुए 6 माह के पुत्र ने पिता को मुखाग्नि दी। सैनिक के शव का चन्दलाई बोर्ड, झीतड़ा आदि जगहों पर अन्तिम दर्शन व पुष्प वर्षा कर ग्रामीणों ने अंतिम विदाई दी।

सैनिक के अन्तिम संस्कार में पाली विधायक ज्ञानचंद पारख, कांग्रेस नेता महावीरसिंह सुकरलाई, पाली सांसद के प्रतिनिधि व निजी सहायक डी आर चौधरी, कार्यवाहक तहसीलदार प्रवीण चौधरी, सरपंच झीतड़ा दिलदार खां चौहान, सरपंच भाकरीवाला अमराराम बेनीवाल, सरपंच कलाली अशोक कुमार, सरपंच प्रतिनिधि निम्बली उर्रा ललित

शर्मा, समाजसेवी पिन्टू ढाका, सैना के अधिकारी व सैनिक सहित कई जने मौजूद रहे।

Villagers gathered for the last glimpse of the jawan flowers were laid on the road

From Around the web