'सोच ईमानदार, काम दमदार, छा गई योगी सरकार'

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने रविवार को अपने कार्यकाल के साढ़े चार साल पूरे कर लिए। भाजपा संगठन और सरकार ने इस अवधि को बदलाव का काल खण्ड मानते हुए प्रदेश भर में आगामी सात
 
Thinking is honest work is strong Yogi government has domina

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने रविवार को अपने कार्यकाल के साढ़े चार साल पूरे कर लिए। भाजपा संगठन और सरकार ने इस अवधि को बदलाव का काल खण्ड मानते हुए प्रदेश भर में आगामी सात अक्टूबर तक ‘विकास उत्सव’ का आयोजन करेगी।

Thinking is honest work is strong Yogi government has domina

सरकार ने इस विकास उत्सव की टैग लाइन, 'सोच ईमानदार, काम दमदार, छा गई योगी सरकार' दी है। साथ में यह भी लिखा है, 'बदलाव के 4.5 वर्ष, आओ मनाएं विकास उत्सव।' इसी टैग लाइन के साथ आज प्रदेश भर में आयोजनों का दौर चला। मुख्य आयोजन राजधानी लखनऊ के लोकभवन में हुआ, जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दोनों उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डा. दिनेश शर्मा और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह तथा प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह के साथ अपनी सरकार के साढ़े चार साल की उपलब्धियों पर एक पुस्तिका का लोकार्पण किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी ने मीडिया के सामने साढ़े चार साल का बहीखाता भी प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि उनके कार्यकाल का यह कालखण्ड पूरी तरह से सुरक्षा और सुशासन को समर्पित रहा। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों में प्रदेश में दंगा होना आम घटना थी, लेकिन भाजपा सरकार के साढ़े चार वर्षों में राज्य के अंदर एक भी दंगा नहीं हुआ।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि पहले प्रदेश में तबादलों और पोस्टिंग की बाकायदे इंडस्ट्री चलती थी। अधिकारी और कर्मचारी राज्य मुख्यालय से लेकर मंडल और जिला स्तर तक ताश के पत्तों की तरह फेंटे जाते थे। लेकिन, हमारी सरकार में इस तरह के भ्रष्टाचार पर रोक लग गई है। इससे प्रशासन में स्थिरता का माहौल बना।

उन्होंने यह भी कहा कि पहले भ्रष्टाचार के साथ अराजकता भी थी। जो भी मुख्यमंत्री या मंत्री बनता था उनमें राजधानी के अंदर अपना घर बनाने की होड़ लग जाती थी। पर भाजपा सरकार ने इसके इतर 42 लाख गरीबों को घर बनवाकर दिया।

योगी ने कहा कि साढ़े चार साल की अवधि में कई संकट के भी समय आये। कोरोना महामारी ने इस दौरान पूरी दुनिया को ठप सा कर दिया, लेकिन उप्र की सरकार हर संकट में जनता के साथ रही।

सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि उप्र ने पिछले साढ़े चार वर्षों में केंद्र सरकार की 44 योजनाओं में प्रथम स्थान प्राप्त किया। उन्होंने कहा कि ईज ऑफ डूइंग बिजनस में उप्र पहले 14वें स्थान पर था, अब दूसरे नंबर पर है। इसी तरह 2017 से पहले उत्तर प्रदेश देश की छठी अर्थव्यवस्था थी, लेकिन अब हम दूसरे स्थान पर हैं। उन्होंने कहा कि यूपी का कोरोना माडल आज विश्व भर में चर्चा का विषय है।

योगी ने कहा कि बदलते माहौल की वजह से प्रदेश में निवेश भी बढ़ा है। अब देश ही नहीं दुनिया भर के उद्यमी यहां निवेश कर रहे हैं। चीन से भी निवेश आया। यह उप्र के लिए बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने बताया कि अब तक प्रदेश में तीन लाख करोड़ रुपये से अधिक का निवेश हुआ है। इससे एक करोड़ 61 लाख नौकरी की संभावनाएं हैं।

पूर्व में पत्रकारों को एक लघु फिल्म भी दिखाई गई, जिसकी शुरुआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के एक भाषण की कुछ लाइनों के साथ थी। इसमें प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पहले उप्र देश के विकास को अवरुद्ध करने वाला माना जाता था, लेकिन अब वही उप्र केंद्र की तमाम योजनाओं का नेतृत्व कर रहा है। मुख्यमंत्री योगी ने अपने संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री समेत समूचे केंद्रीय नेतृत्व व संगठन को सहयोग के लिए धन्यवाद भी दिया। उन्होंने प्रदेश की जनता को भी सरकार के साढ़े चार साल पूरा होने पर बधाई दी।

एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि उनकी सरकार ने अपने पांच वर्ष के कार्यकाल से पहले ही संकल्प पत्र के सभी वादों को पूरा कर दिया है। इस संबंध में विपक्ष के आरोपों को उन्होंने सिरे से खारिज कर दिया। योगी आज बड़े ही आत्मविश्वास के साथ मीडिया से रुबरु हो रहे थे। विपक्ष के सवालों पर उन्होंने दावा किया कि आगामी विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी 350 सीटें जीतकर फिर से सरकार बनाएगी।

From Around the web