देश का किसान उद्वेलित, नहीं हो रही सुनवाई- मुख्यमंत्री गहलोत

 
Countrys farmer agitated hearing is not happening Chief Minister Gehlot
जयपुर, 05 अक्टूबर उत्तरप्रदेश के लखीमपुर खीरी की घटना के विरोध में मंगलवार को प्रदेश कांग्रेस ने सभी जिला मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया। कांग्रेस के मौन पैदल मार्च के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी पर जमकर प्रहार किए। प्रदेश कांग्रेस कमेटी मुख्यालय पर हुई सभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि देश का किसान उद्वेलित है। तमिलनाडू, महाराष्ट्र और अलग-अलग राज्यों से किसान दिल्ली आकर प्रदर्शन कर रहे हैं। साल भर से ज्यादा समय से किसान धरने पर बैठे हैं। हरियाणा-यूपी में उन पर लाठीचार्ज होता है, लेकिन किसी को भी परवाह नहीं है। किसानों की कोई सुनवाई नहीं होती।

उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने किसानों के लिए काले कानून बनाए। हमने विधानसभा में किसानों के हित में नए कानून बनाए, लेकिन वह राज्यपाल के पास ही पड़े हुए हैं। राष्ट्रपति के पास नहीं भेजे गए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोकतंत्र, समाजवाद और धर्मनिरपेक्षता की शपथ ली थी लेकिन आज वही उस शपथ की धज्जियां उड़ा रहे हैं। उन्होंने सवाल किया कि जिस दिशा में देश जा रहा है क्या तब लोकतंत्र कायम रहेगा।

उन्होंने कहा कि लखीमपुर खीरी में तो हद हो गई। दिनदहाड़े लोगों को कुचला गया, लेकिन आज तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने वीडियो जारी किया, जिसमें दिखाया गया कि लोगों को कुचला जा रहा है। इसे देखने के बाद भी क्या अब सबूत जरूरी है। गहलोत ने कहा, प्रियंका गांधी के साथ जिस तरह का व्यवहार पुलिसवालों ने किया वह निंदनीय है। मैंने खुद देखा है टीवी में प्रियंका गांधी और दीपेंद्र हुड्डा के साथ किस तरह का बर्ताव हो रहा था। अब उन्हें मैसेज देने का वक्त आ गया है। आज मोदीजी मन की बात कर रहे हैं। 2024 में देश की जनता मन की बात करके इन्हें आईना दिखाएगी। कांग्रेस और देश का डीएनए एक है। आखिर में तो देशवासियों को कांग्रेस के हाथ में देश देना पड़ेगा। आने वाले वक्त में और बड़ा आंदोलन खड़ा करने के लिए तैयार रहना होगा।

उन्होंने कहा कि देश खतरे में है, लोकतंत्र, समाजवाद और संविधान खतरे में है। राज्य में गरीब अमीर के बीच खाई बढ़ती जा रही है। अब आम जनता को खड़ा होना पड़ेगा। सीएम ने दावा किया कि मोदी जी का ग्राफ धीरे-धीरे नीचे जा रहा है। आज आम आदमी समझ गया है कि उनकी कथनी और करनी में अंतर है। कहते कुछ हैं और करते कुछ हैं। आज देश का आम नागरिक अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहा है

From Around the web