आधुनिक मशीनों से होगा सफाई कार्य, उप्र बनेगा स्वच्छता में नंबर वन

उत्तर प्रदेश को स्वच्छ और निर्मल बनाने के लिए नगर निगम द्वारा उच्च तकनीकी मशीनों का उपयोग किया जाएगा। लायंस सर्विसेज लिमिटेड की अत्याधुनिक मशीनों के सहयोग से
 
Cleaning work will be done with modern machines UP will become number one in cleanliness
उत्तर प्रदेश को स्वच्छ और निर्मल बनाने के लिए नगर निगम द्वारा उच्च तकनीकी मशीनों का उपयोग किया जाएगा। लायंस सर्विसेज लिमिटेड की अत्याधुनिक मशीनों के सहयोग से प्रदेश भर में साफ सफाई का कार्य और भी अच्छी तरह से किया जाएगा।
 

Cleaning work will be done with modern machines UP will become number one in cleanliness



लॉयंस सर्विसेस लिमिटेड के चीफ एक्जीक्यूटिव ऑफिसर सुनील सिंह ने बताया कि प्रदेश भर में स्वच्छ भारत अभियान चलाया जा रहा है। इसके लिए प्रदेश में स्मार्ट सिटी के तहत कई प्रोजेक्ट चलाए जा रहे हैं। नगर निगम की ओर से सफाई अभियान युद्ध स्तर पर चलाया जा रहा है। इसी अभियान में उच्च तकनीकी मशीनों की मदद से स्वच्छता अभियान को और अधिक गति मिलेगी। साथ ही शहर को स्वच्छ बनाने में मदद मिलेगी।

-हाईटेक मशीनों द्वारा किए जाने वाले कार्य



प्रदेश भर में खुले क्षेत्र की सफाई, पार्क की सफाई, सामुदायिक शौचालयों की मशीनीकृत सफाई, उच्च दबाव धुलाई, फोम से सफाई, स्पलैश-रहित सफाई, हाई प्रेशर वॉशर से चोक पाइप और नालियों की सफाई कार्य इटेलियन मशीन (डयूलेवो) के माध्यम से की जाएगी, जो कि एक पेटेंट टेक्नॉलाजी है। ये मशीन काफी अत्याधुनिक है जिससे न केवल सफाई कार्य भी बेहतर तरीके से होगा बल्कि मैनपावर भी बचेगी। इसके अलावा शक्तिशाली रोटरी जेट मशीन के माध्यम से शौचालयों अन्य जगहों पर जमे दाग-धब्बों के निशान भी मिटाए जा सकेंगे।



-पूरे प्रदेश में घर से अलग-अलग लिया जायेगा गीला व सूखा कचरा



प्रदेश में घरों से निकलने वाले कूड़े को अब घरों से अलग-अलग लिया जाए। इसके लिए प्रदेश में नागरिकों को जागरूक करने का कार्य जारी है। साथ ही मौजूदा समय में प्रयागराज व आगरा में घरों से कूड़ा अलग-अलग कर लिया भी जा रहा है।



-प्रदेश के प्रयागराज में जारी है मशीनों से कार्य



नगर निगम प्रयागराज ने उत्तर प्रदेश सरकार के मार्गदर्शन में शहर के सभी शौचालयों को हाईटेक मशीन के माध्यम से सफाई के दायरे में लाने का फैसला किया है। इस परियोजना के माध्यम से इन सभी शौचालयों को दैनिक आधार पर अत्यधिक सुसज्जित, प्रौद्योगिकी आधारित वाहनों के माध्यम से व्यापक रूप से साफ किया जा रहा है।



इस परियोजना के तहत पारदर्शी निविदा प्रक्रिया के माध्यम से सक्षम कार्यकारी एजेंसियों का चयन किया गया है। ये एजेंसियां प्रति वाहन 15 शौचालयों के आधार पर आधुनिक उपकरणों से लैस मोबाइल वाहनों का उपयोग करती हैं। इसके अलावा, अत्यधिक कुशल और पेशेवर सफाई कर्मचारियों की नियुक्ति की गई है जो वाहनों के साथ उपलब्ध आधुनिक उपकरणों की मदद से सभी सामुदायिक शौचालयों की विस्तृत सफाई करते हैं।

From Around the web