यूपीएससी में धनबाद के लाल यश को चौथा और बेटी अपाला को मिला नौवां स्थान

 
Two students from Dhanbad are toppers in UPSC

धनबाद, 25 सितम्बर। वैसे तो देश की कोयला राजधानी धनबाद की धरती ने कई बेसकीमती रत्न देश को दिए हैं, लेकिन इस बार यहां की धरती ने यश जालूका जैसे मेधावी छात्र को जन्म दिया है, जिन्होंने पूरे भारत में धनबाद झरिया का नाम रोशन किया। यश ने संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा में चौथा स्थान प्राप्त किया है, तो वहीं डॉक्टर अपाला मिश्रा को नौवां स्थान मिला है।

झरिया निवासी महावीर जालूका के भतीजे व संजय जालूका के पुत्र यश जालूका ने यह कीर्तिमान स्थापित किया है। यश के पिता संजय एवं बड़े भाई झरिया के लक्ष्मीणियां मोड़ में राशन की दुकान चलाते हैं। वहीं, धनबाद के रहने वाले रिटार्यड कर्नल की पुत्री डॉक्टर अपाला मिश्रा ने ऑल इंडिया रैंक में नौवां स्थान प्राप्त किया है।
Two students from Dhanbad are toppers in UPSC

डॉ अपाला मिश्रा ने अपने तीसरे प्रयास में यह स्थान हासिल किया है। डॉ अपाला मिश्रा इस वक्त यूपी के गाजियाबाद में रहती हैं। उनके भाई मेजर अखिलेश मिश्रा भारतीय सेना में पारा कमांडो हैं। डॉ अपाला मिश्रा के पिता रिटायर्ड कर्नल अमिताभ मिश्रा धनबाद के हाउसिंग कॉलोनी के निवासी हैं। यूपीएससी की परीक्षा में देश मे नौवां रैंक हासिल करने पर उनके परिजनों व शुभचिंतको की तरफ से उन्हें ढेरो बधाई मिल रही है।

डॉ अपाला के पड़ोसी धनबाद जिला चैंबर ऑफ कॉमर्स के पूर्व अध्यक्ष राजेश गुप्ता ने बताया कि धनबाद के लिए गर्व की बात है कि एक साथ चौथा और नौवां रैंक धनबाद के बेटा व बेटी को मिला है। वाक़ई धनबाद के लिए दोहरी ख़ुशी है। अपाला बिटिया तो उनके पड़ोस की है और आज डॉक्टर बिटिया के आईएएस बन जाने से पूरा कोयलांचल झूम उठा है।

बतादें कि इस बार यूपीएससी की परीक्षा में देश में प्रथम स्थान बिहार के कटिहार के रहने वाले शुभम कुमार ने हासिल किया है। यूपीएससी परीक्षा में टॉप आने वाले शुभम पिछले साल इस परीक्षा में 290वां रैंक हासिल की थी। शुभम ने आईआईटी बॉम्बे से पढ़ाई की है। इस बार बिहार औऱ झारखंड के प्रतिभावान छात्र छात्राओं ने यूपीएससी परीक्षा में परचम लहराया है। टॉपर्स की सूची में सबसे अव्वल हैं।

From Around the web