शानदार तेजी के साथ बढ़ा शेयर बाजार, आगे हो सकती है मुनाफा वसूली

शुक्रवार को समाप्त हुए कारोबारी सप्ताह ने शुरुआती कमजोरी के बाद सप्ताह के अंतिम 2 दिनों में शानदार मजबूती का प्रदर्शन किया। इसकी वजह से बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज
 
The stock market increased with great speed there may be profit recovery ahead
शुक्रवार को समाप्त हुए कारोबारी सप्ताह ने शुरुआती कमजोरी के बाद सप्ताह के अंतिम 2 दिनों में शानदार मजबूती का प्रदर्शन किया। इसकी वजह से बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के सेंसेक्स ने सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को 60,333 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के निफ्टी ने 17,947.65 अंक के स्तर पर पहुंचकर ऑल टाइम हाई का नया रिकॉर्ड बनाया। पूरे सप्ताह के कारोबार के दौरान बीएसई का सेंसेक्स 1.75 फीसदी की मजबूती के साथ 1,032.58 अंक चढ़कर 60,048.47 अंक के स्तर पर बंद हुआ। दूसरी ओर एनएसई का निफ्टी 1.52 फीसदी की तेजी के साथ 268.05 अंक की छलांग लगाकर 17,853.20 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

पूरे सप्ताह के दौरान स्मॉलकैप इंडेक्स ने निवेशकों को काफी निराश किया। स्मॉलकैप सेक्टर पूरे सप्ताह के कारोबार के बाद ओवरऑल सपाट बंद हुआ। अगर स्मॉलकैप के इंडिविजुअल स्टॉक की बात की जाए, तो कैंटेबिल रिटेल इंडिया, गुजरात अल्कलीज, वी-2 रिटेल, गुजरात नर्मदा वैली फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्स, मैराथन नेक्स्टजेन रियल्टी, ज़ी मीडिया कॉरपोरेशन, मैन इंफ्रा कंस्ट्रक्शन्स, एचएलई ग्लासकोट और गुजरात थेमिस बायसन जैसी कंपनियों के शेयरों में 20 फीसदी तक की उछाल दर्ज की गई, लेकिन हेक्सा ट्रेडेक्स, बामर लॉरी इन्वेस्टमेंट, गेटवे डिस्ट्रिपार्क्स, ईजी ट्रिप प्लानर, जयप्रकाश एसोसिएट्स और बीएलएस इंटरनेशनल सर्विसेज के शेयरों में 10 से लेकर 25 फीसदी तक की गिरावट का रुख बना रहा।



पूरे सप्ताह के कारोबार में मिडकैप इंडेक्स की स्थिति स्मॉलकैप इंडेक्स की तुलना में बेहतर रही। बीएसई मिडकैप इंडेक्स सोमवार से शुक्रवार तक के कारोबार के बाद 0.59 फीसदी चढ़कर बंद हुआ। इस इंडेक्स की तेजी में इंडियन होटल्स कंपनी, ओबेरॉय रियल्टी, जीएमआर इंफ्रास्ट्रक्चर, जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज, बजाज होल्डिंग्स एंड इन्वेस्टमेंट, गोदरेज प्रॉपर्टीज जैसी कंपनियों के शेयरों की तेजी का योगदान रहा। इन कंपनियों के शेयर में 10 से लेकर 34 फीसदी तक की तेजी दर्ज की गई। दूसरी ओर जिंदल स्टील एंड पावर, न्यू इंडिया एश्योरेंस कंपनी और बैंक ऑफ इंडिया जैसे प्रतिष्ठित शेयरों में तेज गिरावट का रुख बना रहा।



पिछले सप्ताह के कारोबार के दौरान बीएसई लार्ज कैप इंडेक्स ने सबसे बेहतर प्रदर्शन किया। ये इंडेक्स पूरे सप्ताह के कारोबार के बाद 1.3 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुआ। लार्ज कैप इंडेक्स के शेयरों में से बजाज फिनसर्व, लार्सन एंड टूब्रो इन्फोटेक, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, टाटा मोटर्स (डीवीआर), इंडस टॉवर्स और डीएलएफ के शेयरों ने शानदार बढ़त का प्रदर्शन किया। दूसरी ओर टाटा स्टील, एनएमडीसी, एसबीआई कार्ड्स एंड पेमेंट सर्विसेज, अडाणी ट्रांसमिशन और बैंक ऑफ बड़ौदा के शेयरों में 15 फीसदी तक की गिरावट का रुख बना रहा।



पूरे सप्ताह के कारोबार के बाद मार्केट कैप के मामले में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने सबसे अधिक बढ़त हासिल की। जबकि इंफोसिस, बजाज फिनसर्व और एचसीएल टेक्नोलॉजीज मार्केट कैप में हुई बढ़त के मामले में रिलायंस इंडस्ट्रीज की तुलना में पीछे रह गए। मार्केट कैप में नुकसान की बात करें तो भारतीय स्टेट बैंक और टाटा स्टील बाजार पूंजीकरण के लिहाज से सबसे अधिक नुकसान में रहे।



पिछले कारोबारी सप्ताह के दौरान सेक्टोरल इंडेक्स की बात करें तो रियल्टी सेक्टर में पिछले कारोबारी सप्ताह के दौरान सबसे अधिक तेजी का प्रदर्शन किया। इसी तरह मीडिया सेक्टर ने भी पूरे सप्ताह शानदार तेजी दिखाई। इसके कारण सप्ताह के अंत में निफ्टी के रियल्टी इंडेक्स 20 फीसदी की मजबूती के साथ और मीडिया इंडेक्स 11 फीसदी की मजबूती के साथ बंद हुए। दूसरी ओर मेटल और पीएसयू बैंक सेक्टर में आई गिरावट के कारण निफ्टी के मेटल इंडेक्स 3.35 फीसदी और पीएसयू बैंक इंडेक्स 3.18 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुए।



भारतीय शेयर बाजार में विदेशी निवेश के लिहाज से देखा जाए तो इस कारोबारी सप्ताह के दौरान विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने कुल 838 करोड़ रुपये के शेयरों की बिकवाली की। जबकि घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) ने इस कारोबारी सप्ताह के दौरान 3,048.3 करोड़ रुपये की लिवाली की। इस लिवाली और बिकवाली को मिलाकर सितंबर के महीने में अभी तक विदेशी निवेशकों ने कुल 7,137.72 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे हैं, जबकि घरेलू संस्थागत निवेशकों ने खरीद बिक्री मिलाकर सितंबर के महीने में कुल 1,030.37 करोड़ रुपये की खरीदारी की है।



शेयर बाजार के जानकारों का मानना है कि इस कारोबारी सप्ताह में जिस तरह आक्रामक तेजी का रुख बना है, उससे शेयर बाजार पर आने वाले दिनों में कुछ दबाव की स्थिति बन सकती है। बीएसई में 60 हजार अंक के स्तर पर जोरदार रेजिस्टेंस बना हुआ है। अगर सोमवार को शेयर बाजार में तेजी आती है और सेंसेक्स एक बार फिर 60 हजार अंक के ऊपर ही बंद होने में सफल होता है तो शेयर बाजार के लिए इस रेजिस्टेंस को पार करके आगे निकलना आसान हो जाएगा, लेकिन सोमवार को बाजार में एक बार तेज मुनाफावसूली भी हो सकती है। इससे सेंसेक्स 60 हजार के मैजिकल लेवल से नीचे भी आ सकता है। ऐसी स्थिति में छोटे निवेशकों को सतर्क होकर अपनी निवेश योजना तैयार करनी चाहिए। एनएसई का निफ्टी भी अभी तक के सर्वोच्च स्तर पर पहुंच चुका है, लेकिन जानकारों के मुताबिक 18 हजार अंक के स्तर के पहले ही निफ्टी को भी कड़े रेजिस्टेंस का सामना करना पड़ रहा है। अगर आने वाले सप्ताह में निफ्टी ने 18 हजार अंक के इस दायरे को पार कर लिया, तो अगले कुछ दिनों में ये सूचकांक 19 हजार अंक के स्तर तक भी पहुंच सकता है।

From Around the web