सोनीपत: सिंघु बॉर्डर खुलने पर अभी संशय, बैठक में नहीं पहुंचे किसान

दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं तकनीकी विश्वविद्यालय मुरथल में रविवार को हरियाणा के गृह सचिव राजीव अरोड़ा की अध्यक्षता में हुई हाई पावर कमेटी की बैठक में किसान शामिल
 
Sonipat Doubt yet on opening of Singhu border farmers did not reach the meeting

दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं तकनीकी विश्वविद्यालय मुरथल में रविवार को हरियाणा के गृह सचिव राजीव अरोड़ा की अध्यक्षता में हुई हाई पावर कमेटी की बैठक में किसान शामिल नहीं हुए। इसलिए अभी सिंघु बॉर्डर पर रास्ता खुलने पर संशय बरकरार है। सोमवार को हरियाणा सरकार द्वारा इस विषय पर जवाब भी दाखिल करना है।

Sonipat Doubt yet on opening of Singhu border farmers did not reach the meeting

रविवार की बैठक में सोनीपत जिले की राई, कुंडली और बड़ी औद्योगिक क्षेत्रों से यूनियन के अध्यक्ष मौके पर पहुंचे। इस बैठक में प्रशासन द्वारा 43 किसान नेताओं को बुलाया गया था, लेकिन एक भी किसान इस बैठक में शामिल नहीं हुआ। राई औद्योगिक क्षेत्र के अध्यक्ष राकेश देवगन, कुंडली औद्योगिक क्षेत्र के अध्यक्ष नीरज चौधरी और बड़ी एचएसआईडीसी के अध्यक्ष शमशेर शर्मा ने बताया कि कुंडली सिंघु बॉर्डर पर रास्ते बंद होने के चलते यहां जो औधोगिक क्षेत्र है उसको बहुत अधिक नुकसान हो रहा है।

हरियाणा के गृह सचिव राजीव अरोड़ा ने बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए बताया कि इस बैठक में किसानों को भी बुलवाया गया था वह नहीं पहुंच पाए लेकिन यहां पर कुछ उद्योगों से जुड़े यूनियनों के अध्यक्ष जरूर पहुंचे हैं उन्होंने भी अपनी कुछ समस्याएं रास्तों को लेकर प्रशासन के सामने रखी है जो रास्ते टूट गए हैं उनकी मरम्मत करवाने का कार्य प्रशासन जरूर करेगा और यह हरियाणा सरकार द्वारा गठित की गई पहली कोर कमेटी की बैठक की भविष्य में किसानों से बातचीत करके जल्द ही फिर से बैठक आयोजित की जाएगी और कोशिश यह रहने वाली है कि जनहित को ध्यान में रखते हुए रास्ते खुल सके।

राई औधोगिक यूनियन अध्यक्ष राकेश देवगन ने बताया कि अब तक 50 हजार करोड़ रूपए से भी अधिक का नुकसान हो चुका है। प्रशासन से अनुरोध किया है गया है कि एक तरफ का रास्ता खुलनाएं और जब तक रास्ता नहीं खुलता है जो अन्य रोड है उनको मुरमत कर सही किया जाए ताकि आने-जाने के रास्ते सही हों। सरकार द्वारा गठित की गई हाई पावर कमेटी द्वारा आश्वासन दिया गया है कि जल्द ही जनहित को ध्यान में रखते हुए एक तरफ का रास्ता खुलवाया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट के आदेशों पर सोनीपत के कुंडली सिंघु बॉर्डर से सिंघू धरनारत किसानों से एक तरफ का रास्ता खुलवाने के सरकार के प्रयासों को झटका लगा है।

From Around the web