रायगढ़ : जमीन घोटाले में फरार आरोपित सब इंजीनियर निलंबित, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

 
Raigad Sub-engineer accused absconding in land scam suspended can be arrested anytime

रायगढ़, 26 सितंबर धर्मजयगढ़ के आयुर्वेदिक डॉक्टर खुर्शीद खान, विद्युत विभाग का सब इंजीनियर, कररोपण अधिकारी और कंपाऊंडर द्वारा मिलकर एक आदिवासी महिला से जमीन हड़पने के सनसनीखेज मामले में विद्युत विभाग ने शनिवार देर शाम अपने सब इंजीनियर अमीर उल्लाह खान को निलंबित कर दिया है।

जल्द ही इन आरोपितों की गिरफ्तारी भी हो सकती है। बताते चलें कि पूर्व में जज गिरजा देवी मरावी विशेष सत्र न्यायाधीश एट्रोसिटी रायगढ़ ने मामले की सुनवाई करते हुए आरोपित अमीर उल्लाह खान की अग्रिम जमानत खारिज कर दी है।

वहीं अब रायगढ़ विद्युत विभाग में पदस्थ सब इंजीनियर आरोपित अमीर उल्लाह खान को निलंबित कर दिया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्ष 2012 में धरमजयगढ़ के खम्हार में रहने वाली चारमती की धरमजयगढ़ में ही तुर्रापारा में 18391 वर्ग फुट की बेशकीमती जमीन थी।

आयुर्वेदिक डॉक्टर खुर्शीद खान और उनके भाई नूरउल्लाह खान, अमीर उल्लाह खान द्वारा पीड़ित महिला से जमीन की फौती कटवाने के नाम पर कोरे स्टॉप पेपर पर उसके अंगूठे का निशान ले लिया गया।

कोरे स्टॉप पर आरोपित पक्ष ने अपने अपने अस्पातल में काम करने वाले कर्मचारी मृणाल मल्लिक को पीड़ित महिला और उसके सह खातेदार का आम मुख्तियार नामा बना दिया। इसके बाद सारी जमीन डॉक्टर ने अपने और अपने भाई के नाम रजिस्ट्री करवा कर हड़प ली।

महिला द्वारा इनके खिलाफ कई जगह 9 साल तक चक्कर काटने के बाद न्याय के लिए अदालत की शरण में आना पड़ा। अदालत में पीड़ित की तरफ से सीनियर अधिवक्ता अशोक मिश्रा के निर्देशन में अधिवक्ता आशीष मिश्रा द्वारा मुकदमा किया गया था।

चार माह में ही न्यायालय के आदेश के बाद डॉक्टर खुर्शीद खान, उनके भाई नूर उल्लाह खान, अमीर उल्ला खान आर कंपाऊंडर मृणाल मल्लिक के खिलाफ भारतीय दंड संहिता के तहत अपराध दर्ज किया गया है।

इस संबंध में विद्युत विभाग रायगढ़ के मुख्य कार्यपालन अभियंता गुंजन शर्मा ने बताया कि मामले में फरार चल रहे विद्युत विभाग के सब इंजीनियर अमीर उल्लाह खान को निलंबित कर दिया गया है।

From Around the web