बीड जिले की विभिन्न जल परियोजनाओं की ऊंचाई बढ़ाने पर शीघ्र होगा निर्णय

 
Decision will be taken soon on increasing the height of various water projects of Beed district

मुंबई, 29 सितंबर महाराष्ट्र के बीड़ जिले में विभिन्न जल परियोजनाओं की ऊंचाई बढ़ाने के लिए जल्द ही निर्णय लिए जाएंगे। इससे जिले के सिंचाई क्षेत्र में वृद्धि होगी।

यह जानकारी बुधवार को जल संसाधन मंत्री जयंत पाटिल ने एक समीक्षा बैठक के बाद दी। जयंत पाटिल और बीड जिले के पालक मंत्री धनंजय मुंडे भारी बारिश के कारण आई बाढ़ का जायजा लेने के लिए जिले के दौरे पर हैं।

उन्होंने जिलाधिकारी राधा विनोद शर्मा सहित संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की और स्थिति का जायजा लिया। पाटिल ने धनंजय मुंडे के साथ बीड जिले के परली, अंबाजोगई और केज तहसील के विभिन्न गांवों का दौरा किया और प्रभावित क्षेत्रों का निरीक्षण किया।

इस मौके पर धनंजय मुंडे ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में किए जा रहे राहत कार्यों की जानकारी दी और बाढ़ पीड़ितों से बातचीत भी की। पाटिल ने कहा कि सिंचाई परियोजनाओं में कचरा जमा होने से उनका जल संग्रहण प्रभावित हो रहा है।

हमें जल भंडारण क्षमता बढ़ाने की जरूरत है, जिले में जल भंडारण क्षमता बढ़ाने के लिए भंडारण परियोजनाओं की ऊंचाई बढ़ाने के प्रस्तावों पर विचार कर निर्णय लिया जाएगा। सिंचाई का मुख्य उद्देश्य कृषि उत्पादन में वृद्धि कर ग्रामीण जीवन को समृद्ध बनाना है।

इसलिए सिंचाई क्षेत्र को बढ़ाने के लिए मराठवाड़ा में काम की आवश्यकता वाले क्षेत्रों को प्राथमिकता दी जाएगी। इस दौरान जिले के सभी 11 तहसीलों में जल परियोजनाओं,

उनकी चल रही या प्रस्तावित मरम्मत और अन्य कार्यों, नए प्रस्तावित कार्यों के साथ-साथ जिले के जनप्रतिनिधियों की मांगों पर विस्तृत और सकारात्मक चर्चा हुई।

From Around the web