आरक्षण के नाम पर जनता को दिग्भ्रमित न करें, केंद्र की तर्ज पर लागू करे आरक्षण : दीपक प्रकाश

 
bjp state president deepak prakash pc

रांची, 20 सितम्बर । भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद दीपक प्रकाश ने हेमन्त सरकार में शामिल कांग्रेस, झामुमो और राजद पर जमकर निशाना साधा है। सोमवार को प्रदेश कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता में प्रकाश ने हेमन्त सरकार पर आरक्षण के नाम पर नौटंकी करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि केंद्र में पिछड़ों के लिए 27 और आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लिए दस फीसदी लागू है। केंद्र सरकार की तरह झारखंड में भी आरक्षण लागू करे हेमन्त सरकार।

उन्होंने कहा कि जिन्हें आरक्षण लागू करना है वे आरक्षण के नाम पर नाटक कर रहे हैं। पिछड़ों को कांग्रेस ने सबसे ज्यादा छलने का काम किया है। झामुमो ने सर्वाधिक पिछड़ा समाज को ठगने का कार्य किया है।अब घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं।ओबीसी पिछड़ा समाज के हमदर्द बनने का प्रयास कर रहे हैं। पिछड़ा आयोग को दर्जा, आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को दस फीसदी आरक्षण देने का कार्य मोदी ने किया। जबकि लंबे समय तक यूपीए की सरकार थी। मेडिकल में मोदी ने 27 फीसदी आरक्षण दिया। एक तरफ राज्य में कांग्रेस सरकार में शामिल है और फिर धरना किसके खिलाफ दे रही है।

झारखंड की जनता इनके चाल, चरित्र को जानती है। कैबिनेट में आपके लोग शामिल हैं। ड्रामेबाजी छोड़ पिछड़ों को और आर्थिक रूप से पिछड़े हैं उन्हें आरक्षण दें। राहुल सोनिया के बाजए पिछड़ा को राष्ट्रीय अध्यक्ष क्यों नहीं बनाते। झामुमो पिछड़ा मोर्चा खड़ा करे। प्रकाश ने हेमन्त सरकार पर घोर लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए कहा कि हेमन्त सरकार में नेतृत्व छमता का घोर अभाव है। केंद्र को सैकड़ों योजनाएं अधर में पड़ी हुई है।

bjp state president deepak prakash pc

राष्ट्रीय जल जीवन मिशन के तहत 2024 तक हर घर को पानी मिलना है। मंत्रालय द्वारा राज्य को 2020-21 के दौरान 572.24 करोड़ रुपये का केंद्रीय अनुदान आवंटित किया गया, लेकिन हेमन्त सरकार की कार्य रफ्तार धीमी होने के कारण 429.18 करोड़ रुपये का समय पर उपयोग नहीं कर पाई। सरकार को शुद्ध जल व आम लोगों की चिंता नहीं है। देवघर एयरपोर्ट में रास्ता की कमी, जमशेदपुर के धालभूमगढ़ एयरपोर्ट का निर्माण कार्य राज्य सरकार के द्वारा फॉरेस्ट क्लीयरेंस और एनवायरमेंट क्लीयरेंस नहीं देने के कारण अब तक लंबित है। जबकि दुमका हजारीबाग में जमीन अधिग्रहण नहीं हो पाने के कारण एयरपोर्ट के काम में दखल पहुंचा है।

एयरपोर्ट होता तो निवेश आने की गुंजाइश होती। इसी प्रकार से हजारीबाग, दुमका एवं पलामू मेडिकल कॉलेजों में 300 एमबीबीएस सीटें हैं , जो राज्य के कुल एमबीबीएस सीटों का 50 फीसदी है। इस पर भी राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (एनएमसी) ने दाखिले पर रोक लगा दिया है। एनएमसी ने तीनों कॉलेज में नियमों के अनुसार संसाधन उपलबध नहीं रहने पर नामांकन पर रोक लगा दी है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में घोटाले हो रहे हैं। डबल राशन के बजाए सिंगल राशन ही दिया जा रहा है। मोदी फ्रेश चावल भेज रहे हैं लेकिन भ्रष्टाचार का आलम यह है कि लाभुकों को खुद्दी दिया जा रहा है।

From Around the web