चारधाम यात्रा: मुख्यमंत्री के प्रयासों से कारोबारियों की बढ़ी उम्मीदें

 
Increased hopes of Chardham Yatra business
-अब तक 42 हजार तीर्थयात्रियों ने किया पंजीकरण

देहरादून, 20 सितंबर। चारधाम यात्रा प्रारम्भ होने से धाम से जुड़े व्यवसायों की उम्मीद बढ़ गई हैं। यात्रा संचालन को लेकर मुख्यमंत्री के प्रयासों से महामरी के समय से बंद पड़े कारोबार को संजीवनी मिलने लगी है। अब तक लगभग साढ़े पांच हजार लोग दर्शन कर चुके हैं और 42 हजार से अधिक लोगों को ई-पास जारी किए जा चुके हैं।

कोरोना संक्रमण के चलते आर्थिक मंदी से जूझ रही चारधाम यात्रा और पर्यटन से जुड़े कारोबारियों के लिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने 200 करोड़ रुपये का आर्थिक पैकेज जारी कर संजीवनी देने का काम किया। इसकी बदौलत चारों धामों के होटल, रेस्टोरेंट, टैक्सी संचालक आदि के साथ ही पर्यटन क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए एकमुश्त सहायता राशि सरकार द्वारा उपलब्ध कराई गई है।

पर्यटन विभाग अब तक लगभग 15 हजार लोगों को 7 करोड़ रुपये वितरित कर चुका है। यह धनराशि लाभार्थियों के खाते में सीधे जमा कराई जा रही है। यात्रा से जुड़े व्यवसाइयों, तीर्थ पुरोहितों की परेशानियों को दूर करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। इसका असर धरातल पर दिखने लगा है।

Increased hopes of Chardham Yatra business

आश्वासन पर आंदोलन हुआ स्थगितः मुख्यमंत्री ने देवस्थानम बोर्ड को लेकर तीर्थ पुरोहितों के मन में उठ रहे संशय को दूर करते हुए यह स्पष्ट किया कि चारधाम से जुड़े लोगों के हक-हकूक को किसी भी प्रकार से प्रभावित नहीं होने दिया जाएगा। देवस्थानम बोर्ड के तहत बनाई गई उच्चस्तरीय समिति द्वारा चारधाम से जुड़े तीर्थ पुरोहित की बात सुनकर सरकार के समक्ष अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। कमेटी में चारों धामों से दो-दो तीर्थ पुरोहितों को भी शामिल किया जाएगा। मुख्यमंत्री की कार्यपद्धति से प्रभावित होकर तीर्थ पुरोहितों ने अपना आंदोलन स्थगित कर दिया।

From Around the web