हिमाचल में 18 अक्टूबर को बस सेवा ठप रखेंगे एचआरटीसी कर्मी

 हिमाचल में 18 अक्टूबर को एचआरटीसी की बसें नहीं चलेंगी। निगम कर्मचारियों व पेंशनरों की 582 करोड़ रुपये का वित्तीय लाभ न देने को लेकर एचआरटीसी के 12 हजार कर्मचारी एक दिन का काम छोड़ो आंदोलन पर जाएंगे। ऐसे में प्रदेश भर में एचआरटीसी सेवाएं प्रभावित रहेंगी।

 
hrtc one day strike demands transport

शिमला, 13 अक्टूबर  हिमाचल में 18 अक्टूबर को एचआरटीसी की बसें नहीं चलेंगी। निगम कर्मचारियों व पेंशनरों की 582 करोड़ रुपये का वित्तीय लाभ न देने को लेकर एचआरटीसी के 12 हजार कर्मचारी एक दिन का काम छोड़ो आंदोलन पर जाएंगे। ऐसे में प्रदेश भर में एचआरटीसी सेवाएं प्रभावित रहेंगी।

हिमाचल परिवहन कर्मचारी संयुक्त समन्वय समिति के अध्यक्ष प्यार सिंह ठाकुर ने बुधवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि एचआरटीसी प्रबंधन कर्मचारियों की समस्याओं के समाधान के लिए गंभीर नहीं है।

उन्होंने कहा कि वित्तीय लाभों को देने और समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर परिवहन कर्मचारी पिछले दो माह से आंदोलन कर रहे हैं। निगम कर्मचारियों एवं पेंशनरों की लगभग 582 करोड़ रुपये के अनेकों वित्तीय लाभ की देनदारियां वर्षों से लंबित हैं और यह आगे भी जमा हो रही हैं। यह वित्तीय लाभ अन्य विभागों के कर्मचारियों को बहुत पहले जारी हो चुके हैं लेकिन निगम में यह एक प्रथा बन चुकी है कि बिना आंदोलन किए कोई भी वित्तीय लाभ नहीं दिए जाते। पिछले चार वर्षों से कर्मचारियों ने कोई भी आंदोलन नहीं किया और बिना मांगे प्रबंधन व सरकार कर्मचारियों के कोई भी वित्तीय लाभ नहीं देती। यही वजह रही है कि अब तक कर्मचारियों को लगभग 582 करोड़ रुपये की वित्तीय देनदारियां लंबित हो चुकी हैं।

उन्होंने कहा कि निगम का कर्मचारी अपने देय लाभ लेने के लिए दो माह से संघर्षरत है और प्रबंधन व सरकार के उदासीन, अड़ियल व्यवहार के कारण कर्मचारियों को आंदोलन करने के लिए मजबूर किया जा रहा है जिससे प्रदेश की आम जनता को भी परेशानी का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि इसी संघर्ष के दूसरे चरण में निगम के कर्मचारी 18 अक्टूबर यानी सोमवार को एक दिन का काम छोड़ो आंदोलन पर जा रहे हैं।

hrtc one day strike demands transport

From Around the web