किसान आंदोलन पर सरकार का पलटवार, दिल्ली जाने वाले वैकल्पिक रास्तों की होगी मरम्मत

 
Govt counter attack on farmers movement
-सिंघु व टीकरी बार्डर के साथ लगते गांवों में होगा पैचवर्क

चंडीगढ़, 23 सितम्बर। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सिंघु बार्डर खुलवाने की कवायद में लगी हरियाणा सरकार ने अब चंडीगढ़ से दिल्ली जाने वाले वैकल्पिक रास्तों की मरम्मत कराने का फैसला किया है। गुरुवार से सिंघु बार्डर तथा टिकरी बार्डर से सटे उन गांवों में मरम्मत शुरू होगी, जो दिल्ली जाते हैं। दिल्ली जाने वाले सभी वैकल्पिक रास्तों की मरम्मत कर उन्हें ठीक किया जाएगा। सड़कों पर बने गड्ढों को भरा जाएगा। सरकार ने अधिकारियों को शॉर्ट टर्म टेंडर जारी कर तुरंत वैकल्पिक रास्तों को ठीक करने के आदेश जारी किए हैं।

वैकल्पिक रास्तों को ठीक करवाने को लेकर गृह व शहरी स्थानीय निकाय मंत्री अनिल विज ने बुधवार को चंडीगढ़ में संबंधित विभाग के आला अधिकारियों के साथ अहम बैठक की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे किसान आंदोलन के चलते सिंघु बार्डर व टिकरी बार्डर के बंद होने के कारण हरियाणा की ओर से दिल्ली जाने वाले वैकल्पिक रास्तों को तुरंत प्रभाव से ठीक करने का काम शुरू करें ताकि आम जनमानस को हरियाणा की ओर से इन रास्तों से दिल्ली आने व जाने में किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो।

Govt counter attack on farmers movement

विज ने अधिकारियों से कहा कि एनएच-44 पर जो एनएचएआई द्वारा कार्य किया जा रहा था, उसे तुरंत शुरू किया जाए ताकि लोगों के आवागमन में किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत न हो। उन्होंने कहा कि अभी दिल्ली जाने के लिए जिन रास्तों का प्रयोग लोगों द्वारा किया जा रहा है उन पर पैचवर्क व गड्ढे भरने का काम गुरुवार से ही शुरू करवाया जाए।

बैठक में लोक निर्माण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव आलोक निगम, गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा, शहरी स्थानीय निकाय विभाग के प्रधान सचिव अरुण गुप्ता, एसएचआईआईडीसी के प्रबंध निदेशक अनुराग अग्रवाल, पुलिस महानिदेशक पीके अग्रवाल और शहरी स्थानीय निकाय विभाग के निदेशक डीके बेहरा सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

From Around the web