सेब महोत्सव के नाम पर सरकारी बजट का किया जा रहा दुरुपयोग : विजयपाल सजवाण

 
Government budget being misused in the name of apple festival Vijaypal Sajwan

उत्तरकाशी 23, सितम्बर उत्तराखंड सरकार द्वारा देहरादून में अंतरराष्ट्रीय सेब महोत्सव के आयोजन पर प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष एवं गंगोत्री से पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण ने सवाल उठाए हैं। देहरादून में सेब महोत्सव करवाने को लेकर जहां सरकार का तर्क है कि हर्षिल के सेब को पहचान दिलाने के लिए इस महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है, वहीं पूर्व विधायक का कहना है कि अपनी गुणवत्ता के लिए हर्षिल घाटी का सेब पहले ही विख्यात है और देशभर में अपनी विशिष्ट पहचान रखता है। उनका कहना है कि सेब महोत्सव के नाम पर सरकारी बजट का दुरुपयोग करने के बजाय इस घाटी के काश्तकारों को धरातल पर बेहतर सुविधाएं मुहैया करवाते तो सही मायने में ये महोत्सव सुखद होता, लेकिन दुर्भाग्य है कि हमारी पिछली सरकार में निर्मित हर्षिल झाला में बना कोल्ड स्टोर का संचालन ठप पड़ा है। सरकार इस ओर ध्यान देने की बजाय सेब महोत्सव के नाम पर अपना ढोल पीटने को मशगूल है।

उन्होंने कहा कि पिछली सरकार में हमारे प्रयासों से लगभग 09 करोड़ की लागत से बना 1200 मीट्रिक टन की क्षमता वाला कोल्ड स्टोर ठप पड़ा है और इसके संचालन न होने से करीबन 25 स्थानीय लोगों का रोजगार भी बन्द हो चुका है। विजयपाल सजवाण ने कहा कि हर्षिल क्षेत्र में सेब तोड़ने का सीजन शुरू हो गया है, लेकिन सेब रखने के लिए कोल्ड स्टोर का संचालन न होने से काश्तकारों के सामने गहन संकट उत्पन्न हो गया है। इस स्थिति में सेब काश्तकारों को सेब खराब होने का डर सता रहा है। उन्होंने बताया कि इस संबंध में हर्षिल घाटी के सेब काश्तकारों ने सरकार को चेतावनी भी दी है कि यदि समय रहते कोल्ड स्टोर का संचालन शुरू नहीं हुआ तो सरकार द्वारा आयोजित सेब महोत्सव का बहिष्कार किया जाएगा। साथ ही इस महोत्सव में हर्षिल घाटी के सेब नहीं भेजे जाएंगे।

उन्होंने कहा कि एक ओर जहां सरकार हर्षिल के सेब की पहचान दिलाने की बात कर रही है, वहीं दूसरी ओर धरातल पर कोई सुविधा नहीं हैं। समय-समय पर यहां जरूरी दवाइयां और कीटनाशक आदि के लिए उद्यान विभाग से गुहार लगानी पड़ती है। वर्तमान में जंगली तोता, पक्षी से सेब को भारी नुकसान पहुंच रहा है जिस संबंध में काश्तकारों द्वारा विभाग से कम दरों पर जाली उपलब्ध करवाने एवं उद्यान अधिकारियों द्वारा निरीक्षण करने की भी बात रखी गयी लेकिन सरकार और संबंधित विभाग इस ओर मूक दर्शक बने हुए हैं।उन्होंने कहा कि मैं हर्षिल क्षेत्र के सेब काश्तकारों की जायज मांगों पर अपने आपको सम्बद्ध कर सरकार से मांग करता हूं कि शीघ्रातिशीघ्र कोल्ड स्टोर को प्रारंभ करने समेत सेब की गुणवत्ता के लिए धरातलीय स्तर पर बेहतर सुविधाएं मुहैया करवाएं।

From Around the web