सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की कार्यशाला में निजी भागीदारों के साथ सबको इंटरनेट सुलभ बनाने पर चर्चा

 
Discussion on making internet accessible to all with private partners in the workshop of Ministry of Information Technology

नई दिल्ली, 23 सितंबर  इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने भारत को दुनिया में सबसे ज्यादा ‘कनेक्टेड’ यानी इंटरनेट की सुविधा से जुड़ने वाला देश बनाने के लिए ‘कनेक्टिंग ऑल इंडियंस’ नामक एक कार्यशाला का आयोजन किया।

इस रणनीति कार्यशाला ने सार्वजनिक और निजी क्षेत्र को इंटरनेट कवरेज देने के लिए अपने विचार साझा करने का खुला मंच प्रदान किया। कार्यशाला में देश के सबसे बड़े इंटरनेट सेवा प्रदाताओं जैसे जियो और एयरटेल तथा

संचार मंत्रालय के दूरसंचार विभाग के अधिकारियों ने वर्तमान में वंचित और हाशिए के गांवों और कस्बों में इंटरनेट के उपयोग को बढ़ावा देने से जुड़े एक रोडमैप पर चर्चा की।

मंत्रालय की ओर से गुरुवार को दी गई जानकारी के अनुसार कार्यशाला के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विजन को देखते हुए दुनिया की सबसे बड़ी फाइबर आधारित ग्रामीण ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी परियोजना भारतनेट की भी समीक्षा की गई।

कार्यशाला में शेष भूगोलिक क्षेत्रों और गांवों को तुरंत कवर करने की रणनीतियों पर चर्चा की गई। कार्यशाला की अध्यक्षता मंत्रालय में राज्यमंत्री राजीव चंद्रशेखर ने की, जिन्होंने सभी भारतीयों को एक खुले,

सुरक्षित और विश्वसनीय और उपयोगी इंटरनेट से जोड़ने के वर्तमान सरकार के उद्देश्यों को रेखांकित किया। उन्होंने कहा, “डिजिटल इंडिया का विजन सभी नागरिकों को इंटरनेट की शक्ति के साथ-साथ डिजिटल अर्थव्यवस्था और नौकरियों का विस्तार करना है।”

Discussion on making internet accessible to all with private partners in the workshop of Ministry of Information Technology

From Around the web