बारिश से खरीफ की फसल पर बीमारी का खतरा, सुझाव के लिए हेल्पलाइन नम्बर जारी

लगातार हो रही बारिश में खरीफ की फसल में कीटों व बीमारियां लगने का खतरा बढ़ गया है। बारिश के चलते फसल को नुकसान से बचाने के लिए जिला कृषि रक्षा
 
Danger of disease on Kharif crop due to rain helpline number

लगातार हो रही बारिश में खरीफ की फसल में कीटों व बीमारियां लगने का खतरा बढ़ गया है। बारिश के चलते फसल को नुकसान से बचाने के लिए जिला कृषि रक्षा अधिकारी ने किसान भाईयों को सावधानी बरतने को कहा है। उन्होंने कीटनाशक दवाईयों के प्रयोग कर व लगातार निगरानी किए जाने के साथ हेल्पलाइन नम्बर जारी कर सुझाव लेने की सलाह किसानों को दी है।

Danger of disease on Kharif crop due to rain helpline number
जिला कृषि रक्षा अधिकारी सलीमुद्दीन ने शुक्रवार को बताया है कि वर्तमान समय खरीफ की प्रमुख फसल धान में बालियां निकल रही है। लगातार बारिश होने के कारण मौसम में आर्द्रता है, जिसके कारण फाल्स स्मट (मिथ्या कण्डुआ/हल्दिया) बीमारी लगने की प्रबल सम्भावना है। उन्होंने सभी किसान भाइयों को सलाह व सुझाव दिया है कि बाली निकलते समय प्रोपीकोनाजोल 25 प्रतिशत, ई0सी0 की 01 मिली0 मात्रा डेढ़ लीटर पानी में मिलाकर अथवा कॉपरऑक्सीक्लोराइड 50 प्रतिशत डब्ल्यू0 पी0 2.5-3.0 ग्राम मात्रा को 01 लीटर पानी में मिलाकर तत्काल छिड़काव करा दें। एक बार बालियों में इस रोग का प्रकोप होने के बाद इसका उपचार कठिन हो जाता है।

जिला कृषि रक्षा अधिकारी ने किसान भाइयों से सलाह दी है कि दवा को क्रय करते समय रसायन की अवसान तिथि जरूर देख लें, साथ ही उसकी रसीद अवश्य प्राप्त करें। खेत में लगे हुए किसी भी रोग/कीट के परिलक्षित होने पर उन्होंने मो0 नम्बर 9452247111/9452257111 पर छाया चित्र व्हाट्सप कर समस्या का निशुःल्क निदान प्राप्त कर सकते हैं। यही नहीं किसान अपने नजदीकी राजकीय कृषि बीज भण्डार/कृषि रक्षा इकाई में व्यक्तिगत सम्पर्क कर सलाह व सुझाव ले सकते हैं।

From Around the web