ममता मुख्यमंत्री बनी रहेंगी या देंगी इस्तीफा, मतों की गिनती शुरू

मुख्यमंत्री के तौर पर बने रहने को लेकर ममता बनर्जी की किस्मत का फैसला आज हो जाएगा। गत 30 सितंबर को कोलकाता की बहुचर्चित भवानीपुर समेत मुर्शिदाबाद के शमशेरगंज और जंगीपुर सीट पर हुए उपचुनाव की मतगणना आज रविवार सुबह 8 बजे से शुरू हो गयी है।

 
Counting in Bengal will go on today
कोलकाता, 03 अक्टूबर। मुख्यमंत्री के तौर पर बने रहने को लेकर ममता बनर्जी की किस्मत का फैसला आज हो जाएगा। गत 30 सितंबर को कोलकाता की बहुचर्चित भवानीपुर समेत मुर्शिदाबाद के शमशेरगंज और जंगीपुर सीट पर हुए उपचुनाव की मतगणना आज रविवार सुबह 8 बजे से शुरू हो गयी है।

अप्रैल-मई महीने में संपन्न हुए पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी नंदीग्राम सीट पर भाजपा के शुभेंदु अधिकारी से पराजित हो गई थीं। बावजूद इसके उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। पद पर बने रहने के लिए उन्हें भवानीपुर से जीत दर्ज करनी होगी। अगर वह हार जाती हैं तो उन्हें मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे देना होगा।

विधानसभा चुनाव में इस सीट पर जीत दर्ज करने वाले ममता कैबिनेट के मंत्री शोभन देव चट्टोपाध्याय ने बनर्जी के लिए विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद तृणमूल कांग्रेस ने ममता बनर्जी को यहां से उम्मीदवार बनाया है। उनके खिलाफ भारतीय जनता पार्टी ने हाईकोर्ट की अधिवक्ता प्रियंका टिबरेवाल को टिकट दिया है। दोनों ही पार्टियों ने अपने-अपने उम्मीदवार की जीत की उम्मीद जताई है।
Counting in Bengal will go on today
उपचुनाव के लिए ममता बनर्जी के पक्ष में लंबे वक्त तक प्रचार करने वाले राज्य के परिवहन मंत्री और कोलकाता के मेयर फिरहाद हकीम ने शनिवार को कहा था कि दीदी कम से कम 50 हजार से अधिक मतांतर से जीत दर्ज करेंगी।

वहीं भारतीय जनता पार्टी की बंगाल इकाई के पूर्व अध्यक्ष और सांसद दिलीप घोष ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी भवानीपुर में ममता बनर्जी को कड़ी टक्कर देगी। ममता बनर्जी की हार होगी।

इसके साथ ही उन्होंने पहले की तरह इस बार भी उपचुनाव के बाद संभावित हिंसा को लेकर चिंता जाहिर की और कहा कि अगर उपचुनाव परिणाम के बाद हिंसा होती है तो उसकी पूरी जिम्मेवारी राज्य सरकार की होगी। उन्होंने कहा कि अगर हिंसा हुई तो सीबीआई जांच करने के लिए है।

इधर, कोलकाता पुलिस ने एक बयान जारी कर बताया है कि भवानीपुर में मतगणना को तनाव मुक्त रखने के लिए रविवार सुबह 5:00 बजे से मतगणना पूरा होने तक मतगणना केंद्र के पास धारा 144 लागू रहेगी। एक साथ पांच से अधिक लोग एकत्रित नहीं हो पाएंगे। चुनाव आयोग की ओर से बताया गया है कि सुबह 8:00 बजे से केंद्रीय सशस्त्र बल (सीएपीएफ) की मौजूदगी में मतगणना शुरु होने के बाद दोपहर 12:00 बजे तक तीनों ही विधानसभा सीटों पर जीत-हार के स्पष्ट रुझान आ जाएंगे।

From Around the web