भारत में कोरोनावायरस: डेढ़ महीने में पहली बार सामने आये आठ लाख से कम सक्रिय मामले

Coronavirus in India: कोरोना के खिलाफ युद्ध में भारत ने एक और उपलब्धि हासिल की है। भारत लगातार मरीज की निगरानी, स्क्रीनिंग बढ़ाने, संक्रमण के संपर्क में आने वाले लोगों की पहचान और बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के आधार पर डेढ़ महीने के बाद सक्रिय रोगियों की संख्या आठ लाख से नीचे लाने में कामयाब रहा
 
भारत में कोरोनावायरस: डेढ़ महीने में पहली बार सामने आये आठ लाख से कम सक्रिय मामले

Coronavirus in India: कोरोना के खिलाफ युद्ध में भारत ने एक और उपलब्धि हासिल की है। भारत लगातार मरीज की निगरानी, ​​स्क्रीनिंग बढ़ाने, संक्रमण के संपर्क में आने वाले लोगों की पहचान और बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के आधार पर डेढ़ महीने के बाद सक्रिय रोगियों की संख्या आठ लाख से नीचे लाने में कामयाब रहा है। अधिक से अधिक रोगी हर दिन नए मामलों से उबर रहे हैं। मरीज की रिकवरी दर बढ़कर 87.78 प्रतिशत हो गई है। मृत्यु दर घटकर 1.52 फीसदी पर आ गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार सुबह 8 बजे जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 62,212 नए मामले प्रकाश में आए हैं, 70,000 से अधिक मरीज ठीक हुए हैं और 837 लोगों की मौत हुई है। अब तक, देश भर में पीड़ितों की संख्या 74.32 लाख हो गई है, कोरोना में मरने वाले रोगियों की संख्या 65.24 लाख और महामारी की वजह से होने वाली मौतों की संख्या 1.12 लाख है। 7.95 लाख सक्रिय मामले हैं जो कुल मामलों का 10.70 प्रतिशत है।

शुक्रवार को लगभग 10 मिलियन परीक्षण

मेडिकल रिसर्च काउंसिल ऑफ इंडिया के अनुसार, कोरोना संक्रमण का पता लगाने के लिए शुक्रवार को 9.99 लाख नमूनों का परीक्षण किया गया। 16 अक्टूबर तक एक साथ 9.32 करोड़ नमूनों का परीक्षण किया गया है।

महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मौतें

कोरोना महामारी के कारण भारत में महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मौतें होती हैं। इनमें 41,502 हैं। इसके बाद तमिलनाडु में 10,529, कर्नाटक में 10,356, उत्तर प्रदेश में 6,589, आंध्र प्रदेश में 6,382, दिल्ली में 5,946, बंगाल में 5,931, पंजाब में 3,980 और गुजरात में 3,617 लोग हैं।

From Around the web