राजस्थान के दलित परिवार को छत्तीसगढ़-पंजाब के मुख्यमंत्री देंगे 50-50 लाख : मायावती

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की मुखिया व उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला है। बसपा अध्यक्ष मायावती ने रविवार को ट्वीट करके कांग्रेस से सवाल किया
 
Chhattisgarh-Punjab CM will give 50-50 lakhs to Rajasthan's Dalit families: Mayawati
 बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की मुखिया व उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला है। बसपा अध्यक्ष मायावती ने रविवार को ट्वीट करके कांग्रेस से सवाल किया कि क्या छत्तीसगढ़ और पंजाब के मुख्यमंत्री राजस्थान में भी उन दलित परिवारों को 50-50 लाख रुपये की आर्थिक मदद करेंगे, जिनकी पीट-पीट कर हत्या कर दी गयी है। बसपा सुप्रीमो ने कहा कि राजस्थान के हनुमानगढ़ में दलित की पीट-पीट कर की गयी हत्या अति दुखद व निंदनीय है। इस पूरे प्रकरण पर कांग्रेस हाईकमान चुप क्यों है?
Chhattisgarh-Punjab CM will give 50-50 lakhs to Rajasthan's Dalit families: Mayawati
बसपा मुखिया ने कांग्रेस नेतृत्व पर हमला बोलते हुए सवाल किया है कि क्या छत्तीसगढ़ और पंजाब के मुख्यमंत्री वहां जाकर पीड़ित परिवारों को 50-50 लाख रुपये की आर्थिक मदद करेंगे? बहुजन समाज पार्टी इस पर जवाब चाहती है। अगर ऐसा नहीं कर सकते तो कांग्रेस दलितों के नाम पर घड़ियाली आंसू बहाना बंद करे।

मालूम हो कि गत तीन अक्टूबर को उप्र के लखीमपुर खीरी जिले में चार प्रदर्शनकारी किसानों समेत आठ लोगों की मृत्यु हो जाने पर पूरी कांग्रेस टूट पड़ी थी। प्रियंका वाड्रा, राहुल गांधी के अलावा पंजाब के मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी लखीमपुर पहुंचे थे। पंजाब और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्रियों ने पीड़ित परिवारों को 50-50 लाख रुपये की आर्थिक मदद भी की थी।

वहीं भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता आनंद दुबे ने कहा कि कांग्रेस का चरित्र हमेशा हिंसा का रहा है। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस लखीमपुर घटना का सहारा लेकर यहां माहौल खराब करने की कोशिश कर रही थी,लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनके मंसूबो पर पानी फेर दिया।

उन्होंने कहा कि राजस्थान में एक महीने में तीन दलितों की पीट-पीट कर नृशंस हत्या कर दी गयी। किसानों पर लाठी चार्ज किया जा रहा है। महिला अत्याचार 25 फीसदी बढ़ गया है। लेकिन राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा को वहां जाने की फुर्सत नहीं मिली है।

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि जिस वक्त छत्तीसगढ़ के सीएम प्रियंका के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश में राजनितक रोटियां सेंक रहे थे, उस छत्तीसगढ़ के कवर्धा में कांग्रेस की सह पर कट्टरपंथी ताकतें उपद्रव कर रही थीं। जिसकी वजह से वहां कर्फ्यू लगाना पड़ा था। लेकिन कांग्रेस इन मुद्दों पर चुप रहती है। कांग्रेस के लोग उप्र में आकर घटिया राजनित करते हैं। कांग्रेस का समूचा इतिहास महिला, दलित, किसान विरेधी और हिंसायुक्त राजनीति करने का रिकार्ड रहा है। आज भी वह हिंसा के सहारे राजनीति करने की कोशिश कर रही है।

 

From Around the web