पकिस्तान में टमाटर ₹300 किलो तक पहुँचा- नुकसान सीधे तौर पर पाकिस्तान के आम आवाम को, आइये जाने पूरा माज़रा

देश:- जम्मू-कश्मीर से मोदी सरकार के आर्टिकल 370 हटाये जाने के फैसले से पाकिस्तान के लिए भारत से कारोबार बंद करना अब बेहद हानिकारक पड़ रहा है. भारत से निर्यात किए जाने वाले समानों पर पूरी तरह रोक लगाए जाने के बाद पाकिस्तान में टमाटर के दामों में आग लग गई है और कीमत 300
 

देश:- जम्मू-कश्मीर से मोदी सरकार के आर्टिकल 370 हटाये जाने के फैसले से पाकिस्तान के लिए भारत से कारोबार बंद करना अब बेहद हानिकारक पड़ रहा है. भारत से निर्यात किए जाने वाले समानों पर पूरी तरह रोक लगाए जाने के बाद पाकिस्तान में टमाटर के दामों में आग लग गई है और कीमत 300 रुपये प्रति किलो तक पहुंच चुका है. टमाटर के दामों में अचानक इजाफे से पाकिस्तान के लोग सकते में हैं और पहले से ही महंगाई से जूझ रहे लोगों के लिए 300 रुपये किलो टमाटर खरीदना उनकी कमर टूटने जैसी स्थिति है.

टमाटर के दामों में इस कदर बढ़ोतरी से साफ हो गया है कि प्रधानमंत्री इमरान खान के भारत से कारोबार खत्म करने के फैसले का नुकसान सीधे तौर पर पाकिस्तान के आम आवाम को ही उठाना होगा. दरअसल, भारत की तरह से रोजाना हरी सब्जियों और खासतौर पर टमाटर की एक बड़ी खेप पाकिस्तान भेजी जाती थी जिस वजह से वहां सब्जियों और टमाटर के दाम नियंत्रित रहते थे.

लेकिन पाकिस्तान सरकार के कारोबार रोकने के फैसले के बाद अब भारत से टमाटर की सप्लाई खत्म हो गई है जिससे वहां टमाटर के दाम आसमान छूने लगे हैं.

वहीं पाकिस्तान के इस फैसले को लेकर भारतीय ट्रक ऑपरेटरों ने कहा, ‘अगर पाकिस्तान को ये लगता है कि व्यापार बंद करने से नुकसान भारत और अटारी बॉर्डर पर किसानों, ट्रक ऑपरेटरों और अन्य व्यापारियों का होगा तो यह सत्य कथन नहीं है क्योंकि पाकिस्तान में सब्जियों के दाम अब आउट ऑफ कंट्रोल हो जाएंगे और परिस्थितियों के बिगड़ने की संभावना बढ़ जाएगी.

जम्मू-कश्मीर को लेकर भारत की तरफ से लिए गए फैसले से पाकिस्तान इस कदर हताश है कि वो भारत को आर्थिक और सामरिक तौर पर नुकसान पहुंचाने की चाह में एक के बाद एक ऐसे फैसले ले रहा है जिससे वो खुद बर्बाद हो रहा है. पाकिस्तान की इमरान सरकार ने पहले समझौता एक्सप्रेस को रद्द किया और उसके बाद दिल्ली-लाहौर बस सेवा को स्थगित भी कर दिया.

हालांकि भारत जम्मू-कश्मीर पर लिए गए फैसले को साफ शब्दों में देश का आंतरिक मामला बता चुका है लेकिन पाकिस्तान कश्मीर से 370 हटाने के फैसले को अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बनाने में जुटा हुआ है. पाकिस्तान को इस मसले पर भी निराशा ही हाथ लगी है.

बता दें कि पुलवामा हमले के बाद जब भारत ने आतंकियों को ठिकाने लगाने के लिए पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक किया था तो उस समय भारत सरकार ने पाकिस्तान से कारोबार पर रोक लगा दी थी जिसके बाद पाकिस्तान में सब्जी और टमाटर के दामों में इस कदर बढ़ोतरी हुई थी कि पाकिस्तान के लोग और वहां के पत्रकार भारत को कोसने लगे थे.

From Around the web