जो लोग भारत विरोधी काम करते हैं उन्हें अब उन्हीं की भाषा में जवाब दिया जाएगा- गृहमंत्री अमित शाह

हाल ही में जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन को 6 महीने बढ़ाये जाने को लेकर संसद में प्रस्ताव पारित हो गया है। इस दौरान सोमवार को राज्यसभा में जम्मू कश्मीर आरक्षण विधेयक भी पेश किया गया। इस विधेयक के पारित होते ही अंतरराष्ट्रीय सीमा के साथ ही नियंत्रण रेखा में मौजूद लोगों को भी आरक्षण
 
जो लोग भारत विरोधी काम करते हैं उन्हें अब उन्हीं की भाषा में जवाब दिया जाएगा- गृहमंत्री अमित शाह

हाल ही में जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन को 6 महीने बढ़ाये जाने को लेकर संसद में प्रस्ताव पारित हो गया है। इस दौरान सोमवार को राज्यसभा में जम्मू कश्मीर आरक्षण विधेयक भी पेश किया गया। इस विधेयक के पारित होते ही अंतरराष्ट्रीय सीमा के साथ ही नियंत्रण रेखा में मौजूद लोगों को भी आरक्षण का लाभ मिलने लगेगा।

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि जो लोग भारत विरोधी काम करते हैं उन्हें अब उन्हीं की भाषा में जवाब दिया जाएगा। सोमवार को गृहमंत्री अमित शाह अलगाववादी नेताओं पर भी भड़क उठे और उन्होंने बड़ा बयान दिया।

जानिए क्या बोले अमित शाह

जो लोग भारत विरोधी काम करते हैं उन्हें अब उन्हीं की भाषा में जवाब दिया जाएगा- गृहमंत्री अमित शाहअपनी बात रखते हुए अमित शाह ने कहा कि वह भारत के पहले प्रधानमंत्री की प्रतिष्ठा को ठेस नहीं पहुंचाना चाहते हैं लेकिन आजादी के बाद जो गलतियां की गईं उन्हें अनदेखा नहीं किया जा सकता है।

भाषण के दौरान अमित शाह अलगाववादी नेताओं पर भी भड़क उठे और उन्होंने कहा कि, “अलगाववादी नेता घाटी के स्कूलों को बंद करके अपने बच्चों को विदेशों में पढ़ाते हैं।” साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अलगाववादी नेताओं को कश्मीरी युवकों को पत्थरबाजी के लिए उकसाने का कोई पछतावा नहीं है।

From Around the web