बद्रीनाथ मंदिर परिसर में नमाज के वीडियो को लेकर बढ़ा तनाव, 15 लोगों के खिलाफ केस 

उत्तराखंड के चमोली जिले के बद्रीनाथ मंदिर में कुछ मुसलमानों द्वारा नमाज पढने करने का वीडियो वायरल होने के बाद तनाव बढ़ गया है। कहा जाता है कि ईद-उल-अजहा के मौके पर कुछ मुसलमानों ने प्रसिद्ध बद्रीनाथ मंदिर परिसर में नमाज अदा की। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. यहां की पुलिस
 
बद्रीनाथ मंदिर परिसर में नमाज के वीडियो को लेकर बढ़ा तनाव, 15 लोगों के खिलाफ केस 

उत्तराखंड के चमोली जिले के बद्रीनाथ मंदिर में कुछ मुसलमानों द्वारा नमाज पढने करने का वीडियो वायरल होने के बाद तनाव बढ़ गया है। कहा जाता है कि ईद-उल-अजहा के मौके पर कुछ मुसलमानों ने प्रसिद्ध बद्रीनाथ मंदिर परिसर में नमाज अदा की। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. यहां की पुलिस ने बताया है कि यह पोस्ट बुधवार से सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। चमोली के पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान ने कहा कि सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में कई मुस्लिमों को बद्रीनाथ मंदिर परिसर में प्रार्थना करते हुए दिखाया गया है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि वायरल पोस्ट को देखने के बाद स्थानीय पुलिस की एक टीम ने आरोपों की जांच के लिए काम करना शुरू कर दिया. पुलिस ने कहा कि प्रारंभिक जांच में पता चला है कि ऐसी कोई घटना नहीं हुई है।

जिले के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने यहां बताया कि प्रारंभिक जांच में यह भी पता चला है कि 15 मुस्लिम मजदूर हरिंदर सिंह नाम के एक ठेकेदार के अधीन काम कर रहे थे। ये सभी मजदूर मंदिर से करीब 1 किमी दूर स्थित एक पार्किंग सुविधा प्रोजेक्ट में काम कर रहे थे। पुलिस की जांच में यह भी पता चला कि सभी मजदूर परियोजना स्थल पर रहते थे क्योंकि निर्माण में बहुत अधिक सामग्री का उपयोग किया गया था। ईद-उल-अजहा के मौके पर सुबह सात बजे नमाज अदा की। उन्होंने किसी सार्वजनिक स्थान पर नमाज भी नहीं अदा की और न ही किसी मौलाना को बाहर से नमाज के लिए बुलाया गया।

पुलिस ने कहा कि ठेकेदार और मजदूरों के खिलाफ भीड़ जमा करने और सामाजिक दूरी का उल्लंघन करने के आरोप में आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने कहा कि स्थानीय निकाय के पूर्व अध्यक्ष ऋषि प्रकाश सती और उनके सहयोगियों द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया गया है।

मंदिर परिसर में नमाज अदा किए जाने के आरोपों की भी जांच की जा रही है। पुलिस का कहना है कि जांच के आधार पर ही मामले में कानूनी कार्रवाई की जाएगी। पुलिस अधीक्षक ने कहा, “तब तक, मैं लोगों से किसी भी तरह की अफवाह न फैलाने की अपील करता हूं।”

From Around the web