इन 2 चीज़ो से मापा जाता हैं क्रिकेट में गेंद की स्पीड को 90% लोग नहीं जानते होंगे

1. स्पीड गन या राडार गन – ये एक ऐसा गैजेट है, जिसका उपयोग सभी चीजों के स्पीड मापने मे किया जाता है, जैसे – गेंद या कार की स्पीड, ये गैजेट डाप्लर प्रभाव के सिद्धांत पे काम करता है, साल 1947 मे जॉन बाकर ने इस गैजेट को बनाया था. SBI बैंक में निकली
 
इन 2 चीज़ो से  मापा जाता हैं क्रिकेट में गेंद की स्पीड को 90% लोग नहीं जानते होंगे

1. स्पीड गन या राडार गन –

इन 2 चीज़ो से  मापा जाता हैं क्रिकेट में गेंद की स्पीड को 90% लोग नहीं जानते होंगे

ये एक ऐसा गैजेट है, जिसका उपयोग सभी चीजों के स्पीड मापने मे किया जाता है, जैसे – गेंद या कार की स्पीड, ये गैजेट डाप्लर प्रभाव के सिद्धांत पे काम करता है, साल 1947 मे जॉन बाकर ने इस गैजेट को बनाया था.

SBI बैंक में निकली 10th-12th के लिए क्लर्क भर्ती- लास्ट डेट : 26 जनवरी 2020

RSMSSB Patwari Recruitment 2020 : 4207 पदों पर भर्तियाँ- अभी आवेदन करें

AIIMS भोपाल में निकली नॉन फैकेल्टी ग्रुप A के लिए भर्तियाँ – अभी देखें 

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

मैच के दौरान इस गैजेट को मैदान के सीमा रेखा के पास लगाया जाता है, ताकि तुरंत गेंद की स्पीड मापा जा सके, इस गैजेट को ट्रैफिक पुलिस, सड़क मे चलती हुई कार की स्पीड को मापने मे भी उपयोग करते है, ये गैजेट किसी भी चीज का बहुत ही सटीक स्पीड मापती है।

इन 2 चीज़ो से  मापा जाता हैं क्रिकेट में गेंद की स्पीड को 90% लोग नहीं जानते होंगे

2. हॉक आई –इन 2 चीज़ो से  मापा जाता हैं क्रिकेट में गेंद की स्पीड को 90% लोग नहीं जानते होंगे

हॉक आई का उपयोग भी गेंद की स्पीड मापने में किया जाता है, हॉक आई एक ऐसी कंप्यूटर तकनीक है, जो सिर्फ 5 मिलीमीटर की सीमा के भीतर भी सही गणना करता है, साल 2001 में पहली बार इस तकनीक का उपयोग क्रिकेट में किया गया, हॉक आई का सबसे ज्यादा उपयोग थर्ड अंपायर करते है, जब बल्लेबाज एलबीडब्ल्यू होता है, तब ये देखा जाता है की गेंद स्टंप में जा रही थी या नहीं।

From Around the web