गलती के लिए कोई माफी नहीं! बिग बैश लीग में इस खिलाड़ी को बायो बबल के नियमों को तोड़ने के लिए कड़ी सजा

बिग बैश लीग में मेलबर्न रेनेगेड्स के लिए खेलने वाले विल सदरलैंड पर बायो बबल नियम तोड़ने का आरोप लगाया गया है। क्रिकेटरों को क्रिकेट में एहतियात के तौर पर बायो बबल में रहना पड़ता है, भले ही वर्तमान में कोरोना कम हो रहा है। और बायो बबल नियम को तोड़ने वाले खिलाड़ी के खिलाफ
 
गलती के लिए कोई माफी नहीं! बिग बैश लीग में इस खिलाड़ी को बायो बबल के नियमों को तोड़ने के लिए कड़ी सजा

बिग बैश लीग में मेलबर्न रेनेगेड्स के लिए खेलने वाले विल सदरलैंड पर बायो बबल नियम तोड़ने का आरोप लगाया गया है। क्रिकेटरों को क्रिकेट में एहतियात के तौर पर बायो बबल में रहना पड़ता है, भले ही वर्तमान में कोरोना कम हो रहा है। और बायो बबल नियम को तोड़ने वाले खिलाड़ी के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाती है।

विल सदरलैंड को बायो बबल के नियमों को तोड़ते हुए और बाहरी लोगों के साथ भोजन करते हुए देखा गया था। साथ ही बाहर जाकर गोल्फ खेलते हुए भी देखा। उसी कारण से उन पर जुर्माना लगाया गया है। साथ ही टूर्नामेंट मैनेजर के अनुसार विल सदरलैंड ने अपनी गलती मान ली है।

जुर्माना देने से इंकार कर दिया

विल सदरलैंड ने अपनी गलती मान ली है लेकिन जुर्माना देने से इनकार कर दिया। टूर्नामेंट आयोजकों द्वारा उन पर 10 हजार का जुर्माना लगाया गया था। लेकिन क्योंकि उसने भुगतान करने से इनकार कर दिया था, तो जुर्माना बढ़ाकर 5,000 कर दिया गया था।

इससे पहले भी बिग बैश ने बायो बबल के नियमों को तोड़ा था

इसी तरह की घटना दिसंबर में हुई थी। ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी क्रिस लिन और डैन लॉरेंस, जो उस समय ब्रिस्बेन हिट टीम के लिए खेल रहे थे, पर बायो बबल नियम तोड़ने के लिए जुर्माना लगाया गया था। इससे पहले, दुबई में आईपीएल टूर्नामेंट में बायो बबल का इस्तेमाल किया गया था, लेकिन सभी खिलाड़ियों ने बायो बबल नियम का सख्ती से पालन किया। अब इंग्लैंड की टीम भारतीय दौरे के लिए आई है। इंग्लैंड की टीम को भी बायो बबल का सख्ती से पालन करना होगा।

क्या है यह इको या बायो-बबल ?

बेहद साधारण यानी बोल चाल की भाषा में समझाएं तो यह एक ऐसा वातावरण है, जिससे बाहरी दुनिया में रहने वालों को कोई संपर्क नहीं होता, इसमें रखे जाने वाले लोग बाहर की दुनिया से पूरी तरह से कट जाते है। क्रिकेट में भाग लेने वाले सभी खिलाड़ी, कोचिंग और सपोर्ट स्टाफ, मैच ऑफिशियल, होटल स्टाफ का कोरोना टेस्ट कराया जाता है इसके बाद सभी को बायो बबल में प्रवेश दिया जाता है।

From Around the web