इन भारतीय बल्लेबाजों द्वारा लगाये गये 5 सबसे तेज शतक

आज हम आपको बताने वाले है उन 5 भारतीय बल्लेबाजों के बारे में जिन्होंने एक दिवसीय मैचों में सबसे तेज़ शतक लगाये है। वैसे तो भारत की टीम का बल्लेबाजी क्रम दुनिया का सबसे मजबूत बल्लेबाजी क्रम है, जिसका प्रमाण भारतीय बल्लेबाज समय-समय पर विपक्षी गेंदबाजो के पसीने छुड़वा कर देते रहे है। आज हम
 
इन भारतीय बल्लेबाजों द्वारा लगाये गये 5 सबसे तेज शतक

आज हम आपको बताने वाले है उन 5 भारतीय बल्लेबाजों के बारे में जिन्होंने एक दिवसीय मैचों में सबसे तेज़ शतक लगाये है। वैसे तो भारत की टीम का बल्लेबाजी क्रम दुनिया का सबसे मजबूत बल्लेबाजी क्रम है, जिसका प्रमाण भारतीय बल्लेबाज समय-समय पर विपक्षी गेंदबाजो के पसीने छुड़वा कर देते रहे है। आज हम ऐसे ही पांच बल्लेबाजो के बारे में आपको बतायेंगे जिन्होंने भारत की तरफ से सबसे तेज शतक लगाने वालो की सूची में अपना नाम दर्ज करवाया है।

5.सुरेश रैना:

वर्ष 2008 में एशिया कप के दौरान हांगकांग के खिलाफ एक मैच में सुरेश रैना ने 66 गेंदों पर शतक जड़ दिया, इस मैच में उन्होंने 68 गेंदों पर 101 रन की पारी खेली थी जिसमे उन्होंने 7 चौके और 5 छक्के लगाये थे। इस मैच में भारत ने निर्धारित 50 ओवरों में 374 रन का पहाड़ जैसा स्कोर बनाया था और भारत ने यह मैच 256 रन के बड़े अंतर से अपने नाम किया था।

4. युवराज सिंह:

वर्ष 2008 में ही जब इंग्लैंड की टीम भारत दौरे पर आयी हुई थी और राजकोट के मैदान पर वह मैच था जब युवराज सिंह ने तूफानी पारी खेलते हुए मात्र 64 गेंदों पर शतक ठोक दिया। इस पारी में उन्होंने मात्र 78 गेंदों पर 138 रन बनाये, जिसमे उन्होंने 16 चौके और 6 छक्के लगाये। इस मैच में भारत ने 50 ओवरों में 387 रन का पहाड़ जैसा स्कोर बनाया और इस मैच में भी भारत ने 158 रन की बड़ी जीत दर्ज की थी।

3. मोहम्मद अजहरुद्दीन:

वर्ष 1988 में न्यूज़ीलैण्ड भारत दौरे पर आई हुई थी, सीरीज़ का चौथा एकदिवसीय मैच जो वड़ोदरा के मैदान पर खेला गया था। जिसमे भारत को 279 रन का लक्ष्य मिला था लेकिन भारत के शीर्ष क्रम के 5 बल्लेबाज 133 रन पवेलियन लौट चुके थे और क्रीज़ पर बल्लेबाजी के लिये उतरे मोहम्मद अज़हरुद्दीन ने आते ही मैदान के चारो तरफ चौके छक्को की बारिश कर दी और मात्र 62 गेंदों पर पर शतक जड़ दिया, जिसमे उन्होंने 10 चौके और 3 छक्के भी लगाये। उनके इस लाजवाब प्रदर्शन की बदौलत भारत ने यह मैच 2 विकेट से जीत लिया।

2. वीरेंद्र सहवाग:

मुल्तान के सुल्तान वीरेंद्र सहवाग ने वर्ष 2009 में न्यूज़ीलैण्ड के खिलाफ मात्र 60 गेंदों पर शतक ठोक डाला। सहवाग न इस मैच में 74 गेंदों पर 125 रन की नाबाद पारी खेली, जिसमे उन्होंने 14 चौके और 6 छक्के भी लगाये। भारत ने इस मैच में न्यूज़ीलैण्ड के 270 रन के जवाब में 201 रन बिना विकेट के बनाये तभी बारिश आ गयी जिसके चलते भारत ने डकवर्थ लूईस नियम के तहत यह मैच 84 रन से जीत लिया।

1. विराट कोहली:

वर्ष 2013 में ऑस्ट्रेलिया की टीम भारत दौरे पर 7 मैचों की एकदिवसीय श्रंखला खेलने के लिये आयी थी। श्रंखला का दूसरा मैच जयपुर में था जिसमे ऑस्ट्रेलिया की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवरों में 359 रन का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा कर दिया था। लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने विराट कोहली की 52 गेंदों पर 100 रन की तूफानी पारी के दम पर 360 रन का लक्ष्य 39 गेंद शेष रहते सिर्फ 1 विकेट खोकर आसानी से हासिल कर लिया। विराट कोहली ने अपनी इस तूफानी पारी के दौरान 8 चौके और 7 छक्के भी लगाये। विराट कोहली के आलावा इस मैच में रोहित शर्मा ने भी नाबाद 141 रन बनाकर एक शानदार पारी खेली थी।

From Around the web