SBI CHARGES: 1 जुलाई से देश के सबसे बड़े बैंक शुल्क में हुआ बदलाव, जानिए कौन सा सर्विस चार्ज कितना है

देश के सबसे बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक एसबीआई ने कहा कि वह एक जुलाई से बुनियादी बचत खातों के सेवा शुल्क में बदलाव करने जा रहा है। एटीएम से निकासी के अलावा चेक बुक और गैर-वित्तीय कार्य भी शामिल हैं। SBI का नया चार्ज केवल BSBD – बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट अकाउंट पर लागू
 
SBI CHARGES: 1 जुलाई से देश के सबसे बड़े बैंक शुल्क में हुआ बदलाव, जानिए कौन सा सर्विस चार्ज कितना है

देश के सबसे बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक एसबीआई ने कहा कि वह एक जुलाई से बुनियादी बचत खातों के सेवा शुल्क में बदलाव करने जा रहा है। एटीएम से निकासी के अलावा चेक बुक और गैर-वित्तीय कार्य भी शामिल हैं। SBI का नया चार्ज केवल BSBD – बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट अकाउंट पर लागू होगा।

बेसिक सेविंग्स अकाउंट के लिए फ्री कैश ट्रांजैक्शन की लिमिट अब 4 गुना बढ़ा दी गई है। इसमें बैंक निकासी और एटीएम निकासी दोनों शामिल हैं। इसके बाद प्रत्येक निकासी पर 15 रुपये शुल्क लिया जाएगा। यह शुल्क एटीएम और शाखा निकासी दोनों पर लागू होगा। बीएसबीडी खाता खोलते समय 10 चेकबुक पृष्ठ निःशुल्क प्रदान किए जाएंगे। यह एक वित्तीय वर्ष की सीमा है जिसके बाद चेकबुक के लिए अलग से शुल्क जमा करना होगा। हालांकि एनईएफटी, आईएमपीएस और आरटीजीएस लेनदेन पूरी तरह से मुफ्त हैं।

किस प्रकार का शुल्क लिया जाएगा

यदि कोई ग्राहक एक वित्तीय वर्ष में 10 मुफ्त चेक बुक के अलावा 10 पेज की चेक बुक लेता है, तो 40 रुपये का शुल्क लिया जाएगा। 25 पृष्ठों के लिए 75 का शुल्क लिया जाएगा। इमरजेंसी सर्विस के तहत 10 पेज के लिए 50 रुपये चार्ज किए जाएंगे। जीएसटी को अलग से शामिल किया जाएगा। वरिष्ठ नागरिकों के लिए कोई शुल्क नहीं है। बैंक ने BSBD खाते के साथ RuPay कार्ड जारी किया है। यह कार्ड मुफ्त में देगा।

एसबीआई ने चार्ज के नाम पर सैकड़ों करोड़ वसूले हैं।

हाल ही में बेसिक सेविंग अकाउंट पर चार्जेज को लेकर चौंकाने वाली रिपोर्ट आई थी। आईआईटी बॉम्बे ने अपने अध्ययन में कहा कि कैसे देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक और कुछ बड़े बैंक गरीबों के खातों से सेवाओं के नाम पर भारी मुनाफा कमाते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक पिछले छह साल में एसबीआई ने बीएसबीडी खाताधारकों से 308 करोड़ रुपये चार्ज वसूल किए हैं। SBI के पास 12 करोड़ BSBD खाताधारक हैं। पीएनबी। नहीं। बीएसबीडी खाताधारकों की संख्या 9.9 करोड़ है। बैंक ने लेनदेन शुल्क के नाम पर उससे 9.9 करोड़ रुपये वसूल किए हैं।

From Around the web