1 अक्टूबर से बदल रहा है रेलवे का शेड्यूल, इस बार रेलवे का टाइमटेबल काफी अलग होगा

 
Railways schedule is changing from October 1  

नई दिल्ली, 18 सितम्बर 2021.
फिलहाल भारतीय रेलवे अपने शेड्यूल में बड़ा बदलाव करने जा रहा है। अगर आपको जानकारी नहीं है तो आपको बता दें कि नई समय सारिणी 1 अक्टूबर से लागू हो जाएगी, जब पिछले दो साल से रेलवे की समय सारिणी में कोई बदलाव नहीं किया गया है। इसकी तैयारी रेलवे विभाग जोर-शोर से कर रहा है। इस बार रेलवे का टाइमटेबल काफी अलग होगा।

रेलवे एक नई समय सारिणी पेश कर रहा है:

एक अक्टूबर से प्रयागराज मंडल के सभी रेलवे स्टेशनों से गुजरने वाली ट्रेनों के समय में बदलाव किया जाएगा. पिछले साल मई से रेलवे सिर्फ स्पेशल और फेस्टिव ट्रेनें चला रहा है। नई समय सारिणी के लागू होने के बाद इन ट्रेनों से स्पेशल और फेस्टिवल ट्रेनों का नाम हटाया जा सकता है। पिछले साल लॉकडाउन के बाद रेलवे ने पहली राजधानी एक्सप्रेस को स्पेशल ट्रेन के तौर पर लॉन्च किया था. तब से सभी राजधानी एक्सप्रेस को स्पेशल ट्रेन के रूप में चलाया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि पिछले साल कोरोना की पहली लहर के बाद ट्रेनों का संचालन जीरो से शुरू किया गया था, लेकिन धीरे-धीरे स्थिति सामान्य हो गई है और अब 95 फीसदी ट्रेनें पटरी पर हैं. ऐसे में रेल मंत्रालय में लंबे समय से बहस चल रही है कि 1 अक्टूबर से लागू होने वाली नई समय सारिणी से ट्रेन नंबर का अगला जीरो हटा दिया जाए.

Railways schedule is changing from October 1  

इससे पहले 2019 में आया था टाइम टेबल:

बता दें कि इससे पहले रेलवे का टाइमटेबल साल 2019 में ही आया था। इसके बाद कोरोना के चलते ट्रेनों का टाइम टेबल रेलवे में फंसा हुआ है. नई समय सारिणी 1 अक्टूबर को आने की उम्मीद है। उत्तर मध्य रेलवे के सीपीआरओ डॉ. शिवम शर्मा ने बताया कि एक अक्टूबर से नई समय सारिणी लागू की जा रही है.

डीआरएम प्रयागराज मोहित चंद्र ने कहा, 'नई रेलवे समय सारिणी 1 अक्टूबर से लागू हो सकती है। बोर्ड की ओर से सारी जानकारी बोर्ड को भेज दी गई है और अब बोर्ड स्तर पर काम चल रहा है. ट्रेन नंबर के आगे से जीरो हटेगा या नहीं इसका कोई अनुमान नहीं है। यह फैसला भी बोर्ड को लेना है।

अब टाइम टेबल होगा डिजिटल:

आपको बता दें कि रेलवे स्टेशन के बुक स्टॉल पर ट्रेन का शेड्यूल अब जनता के लिए उपलब्ध नहीं होगा। अब नई समय सारिणी डिजिटल दिखाई देगी। रेल यात्रियों को इस माध्यम से ट्रेनों के आगमन और प्रस्थान की जानकारी मिलेगी। रेलवे ने आईआरसीटीसी को डिजिटल जिम्मेदारी दी है। इस संबंध में रेलवे बोर्ड के उप निदेशक कोचिंग राजेश कुमार की ओर से सीएमडी आईआरसीटीसी को पत्र भेजा गया है.

From Around the web