देश के इस ऐतिहासिक मंदिर में अब छोटे कपड़े पहनकर आने वालों की नो एंट्री, श्राइन बोर्ड का फैसला

जो लोग सोचते हैं कि कपड़ों से कोई फर्क नहीं पड़ता, शायद उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन जो लोग आते हैं वे छोटे कपड़े पहने लोगों को देखकर बहुत परेशान होते हैं। नई दिल्ली, शनिवार, 21 अगस्त 2021 | देश के ऐतिहासिक माता मनसा देवी मंदिर (Mansa Devi Mandir Rule) में अब शॉर्ट्स पहनने
 
देश के इस ऐतिहासिक मंदिर में अब छोटे कपड़े पहनकर आने वालों की नो एंट्री, श्राइन बोर्ड का फैसला
  • जो लोग सोचते हैं कि कपड़ों से कोई फर्क नहीं पड़ता, शायद उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन जो लोग आते हैं वे छोटे कपड़े पहने लोगों को देखकर बहुत परेशान होते हैं।

नई दिल्ली, शनिवार, 21 अगस्त 2021 | देश के ऐतिहासिक माता मनसा देवी मंदिर (Mansa Devi Mandir Rule) में अब शॉर्ट्स पहनने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। अब शॉर्ट्स पहने लोगों को मंदिर में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। मंदिर बोर्ड के सचिव शारदा प्रजापति ने कहा कि कई भक्तों की शिकायतों के बाद यह निर्णय लिया गया। धर्म और संस्कृति की सीमाओं का पालन करने का निर्णय लिया गया है।

शारदा प्रजापति के अनुसार, अब से शॉर्ट्स और जींस पहनने वालों को बच्चों में संस्कार डालने के लिए प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। जो लोग सोचते हैं कि कपड़ों से फर्क नहीं पड़ता, उन्हें फर्क नहीं पड़ता, लेकिन जो लोग आते हैं वे शॉर्ट्स पहने हुए लोगों को देखकर बहुत परेशान होते हैं। कई लोगों ने मांग की कि मंदिर में मर्यादा का पालन किया जाए और जो लोग छोटे कपड़े पहनकर मंदिर में आते हैं, उन्हें सिर ढककर गुरुद्वारा जाना पड़ता है, यह स्वीकार करना गलत है। उन्होंने युवाओं से शॉर्ट्स पहनकर न आने की अपील की।

गौरतलब है कि मनसा देवी का इतिहास उतना ही प्राचीन है जितना कि अन्य सिद्ध शक्ति पीठों का। माता मनसा देवी के सिद्ध शक्ति पीठ पर बने मंदिर का निर्माण मनीमाजरा के राजा गोपालसिंह ने 1815 में उनकी देखरेख में लगभग चार सौ साल पहले, अपने मानसिक कार्य के पूरा होने पर किया था।

From Around the web