भारत की सख्ती के बाद ब्रिटेन ने किया ट्रैवेल एडवाइजरी में बदलाव

भारतीयों के लिए ब्रिटेन में यात्रा के लिए 10 दिनों के अनिवार्य क्वारंटीन प्रतिबंध किए जाने पर भारत द्वारा कड़ा रुख अपनाने के बाद अपने ट्रैवेल एडवाइजरी में बदलाव किया है। ब्रिटिश सरकार ने शनिवार को अपनी ट्रैवेल एडवाइजरी (आधिकारिक सलाह) को अपडेट करते हुए कहा कि यह एडवाइजरी सोमवार से लागू होगी। ब्रिटिश सरकार ने कहा है कि वह समस्या का समाधान निकालने के लिए भारतीय अधिकारियों के साथ संपर्क में है।

 
britain updates travel advisory india indian authorities
समस्या के समाधान को वार्ता जारी

लंदन, 03 अक्टूबर । भारतीयों के लिए ब्रिटेन में यात्रा के लिए 10 दिनों के अनिवार्य क्वारंटीन प्रतिबंध किए जाने पर भारत द्वारा कड़ा रुख अपनाने के बाद अपने ट्रैवेल एडवाइजरी में बदलाव किया है। ब्रिटिश सरकार ने शनिवार को अपनी ट्रैवेल एडवाइजरी (आधिकारिक सलाह) को अपडेट करते हुए कहा कि यह एडवाइजरी सोमवार से लागू होगी। ब्रिटिश सरकार ने कहा है कि वह समस्या का समाधान निकालने के लिए भारतीय अधिकारियों के साथ संपर्क में है।

ब्रिटेन के फॉरेन, कॉमनवेल्थ एंड डेवलपमेंट आफिस (एफसीडीओ) द्वारा जारी एडवाइजरी के अनुसार ब्रिटेन से भारत जाने वालों को 10 दिनों के अनिवार्य क्वारंटीन में रहने और आठवें दिन एक अतिरिक्त कोरोना टेस्ट कराना होगा।

दरअसल भारत ने ब्रिटेन द्वारा भारतीय यात्रियों पर लगाए गए प्रतिबंधों के बाद जवाबी प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। भारत सरकार की घोषणा के एक दिन बाद ब्रिटेन एडवाइजरी को अपडेट किया गया है। भारत की घोषणा के बाद ब्रिटेन से भारत आने वाले सभी ब्रिटिश नागरिकों को सोमवार से 10 दिनों के क्वारंटीन से गुजरना होगा। भले ही उनके टीकाकरण की स्थिति कुछ भी हो।

britain updates travel advisory india indian authorities

ब्रिटिश नागरिकों के लिए जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि भारत आने वाले सभी यात्रियों को अपनी टीकाकरण की स्थिति के बावजूद हवाई अड्डे पर आगमन पर और आगमन के आठ दिनों बाद अपनी लागत पर एक कोरोना आरटी-पीसीआर टेस्ट कराना होगा।

इसके अलावा वे जिस पते पर जाएंगे वहां उन्हें दस दिनों के लिए अनिवार्य रूप से क्वारंटीन होना पड़ेगा। यही नहीं, क्वारंटीन रहने के दौरान ऐसे सभी यात्रियों की नियमित रूप से राज्य/जिला स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा निगरानी की जाएगी।

उल्लेखनीय है ब्रिटेन ने अभीतक भारत के वैक्सीन प्रमाणन को मान्यता नहीं दी है। ऐसे में भारतीय यात्रियों के ब्रिटेन जाने पर प्रतिबंधों से गुजरना पड़ रहा है।

From Around the web