सोना असली है कि नकली अब बताएगा सरकार का यह BIS Care ऐप

उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने सोमवार को BIS Care मोबाइल ऐप लॉन्च किया। इस ऐप का उपयोग उपभोक्ता, ISI और हॉलमार्क गुणवत्ता प्रमाणित उत्पादों की प्रमाणिकता की जांच के लिए कर सकते हैं। इसे किसी भी एंड्रॉयड फोन से ऑपरेट किया जा सकता है। ऐप लॉन्चिंग के दौरान पासवान ने कहा- सरकार ने
 
सोना असली है कि नकली अब बताएगा सरकार का यह BIS Care ऐप

उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने सोमवार को BIS Care मोबाइल ऐप लॉन्च किया। इस ऐप का उपयोग उपभोक्ता, ISI और हॉलमार्क गुणवत्ता प्रमाणित उत्पादों की प्रमाणिकता की जांच के लिए कर सकते हैं।

इसे किसी भी एंड्रॉयड फोन से ऑपरेट किया जा सकता है। ऐप लॉन्चिंग के दौरान पासवान ने कहा- सरकार ने उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा के लिए कई कदम उठाए हैं। इस ऐप पर उपभोक्ता शिकायत भी दर्ज करा सकते हैं।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

‘BIS CARE’ नाम है मोबाइल एप का

भारतीय मानक ब्यूरो ने आज BIS CARE नाम का एक मोबाइल एप लॉन्च किया. ये एप ग्राहकों को असली और नकली सामान में फ़र्क़ करने में मदद करेगा. उदाहरण के लिए, अगर आप बाज़ार से पंखा या कोई अन्य सामान ख़रीदने जाएं तो उसपर आईएसआई का निशान लगा रहता है.

‘अगर आपको शंका होती है कि पंखा उस ब्रांड का नहीं लग रहा, जिसका नाम उसपर लिखा है तो आप इस BIS CARE नाम के एप पर आईएसआई निशान का नम्बर लिख कर ब्रांड और उस कम्पनी की पूरी जानकारी एप पर देख सकते हैं. नम्बर लिखते ही मालिक समेत उस ब्रांड और कम्पनी की पूरी जानकारी आपके मोबाइल एप पर सामने आ जाएगी.

हॉलमार्क किए गए उत्पादों की प्रमाणिकता जांच सकते हैं

पासवान ने कहा, ‘बीआईएस उपभोक्ता इंगेजमेंट पर एक पोर्टल का विकास कर रहा है, जिसके माध्यम से उपभोक्ता समूहों के ऑनलाइन पंजीकरण, प्रस्तावों के प्रस्तुतिकरण और उनके अनुमोदन तथा शिकायत के मैनेजमेंट में सुविधा होगी. यह मोबाइल एप के माध्यम से उपभोक्ता आईएसआई मुहर लगे और हॉलमार्क किए गए उत्पादों की प्रमाणिकता जांच सकते हैं और इस एक्ट का इस्तेमाल करते हुए उनके खिलाफ शिकायत भी कर सकते हैं.’

From Around the web