पाकिस्तानी अखबारों सेः सुर्खियों में छाई रहीं न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के दौरा रद्द करने की खबरें

अखबारों ने लिखा है कि प्रधानमंत्री इमरान खान ने न्यूजीलैण्ड की प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न से टेलीफोन पर बात की है और सुरक्षा का पूरा आश्वासन दिया लेकिन
 
From Pakistani newspapers News of cancellation of New Zealan

पाकिस्तान से शनिवार को प्रकाशित अधिकांश समाचार पत्रों ने न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के जरिए सुरक्षा कारणों से पाकिस्तान का दौरा रद्द किए जाने की खबरें प्रमुखता के साथ प्रकाशित की हैं।

अखबारों ने लिखा है कि प्रधानमंत्री इमरान खान ने न्यूजीलैण्ड की प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न से टेलीफोन पर बात की है और सुरक्षा का पूरा आश्वासन दिया लेकिन उसका भी कोई नतीजा नहीं निकला। अखबारों ने लिखा है कि न्यूजीलैंड की टीम पाकिस्तान आकर वापस चली गई है जिसकी वजह से पाकिस्तान को काफी नुकसान उठाना पड़ा है। अखबारों ने लिखा है कि न्यूजीलैंड की इस दौरे को रद्द कराने में ब्रिटेन और भारत के हाथ होने की संभावना जताई जा रही है। अखबारों ने लिखा है कि हालांकि ब्रिटेन ने इस दौरे को रद्द कराने में अपनी भूमिका से इनकार कर दिया है। पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख रशीद का कहना है कि किसी तरह की कोई भी इंटेलिजेंस रिपोर्ट न्यूजीलैंड से शेयर नहीं की गई है। पाकिस्तान का कहना है कि न्यूजीलैंड की इस हरकत के खिलाफ वह आईसीसी में मामला उठाएंगे।

From Pakistani newspapers News of cancellation of New Zealan

अखबारों ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का एक बयान भी छापा, जिसमें उन्होंने कहा है कि अफगानिस्तान को तन्हा छोड़ा गया तो एक बड़ी समस्या जन्म लेगी। उनका कहना है कि सबको मिलकर समस्या का हल करना होगा। दुनिया को अब अफगानिस्तान की हकीकत को स्वीकार करना होगा। उनका कहना है कि अंतरराष्ट्रीय बिरादरी की कोशिशों के बावजूद आतंकवाद के खतरे अभी भी मौजूद हैं। तालिबान को अपने वादे को पूरा करना चाहिए। उनका कहना है कि एक धर्म को आतंकवाद से जोड़ने का नुकसान हुआ है। उनका कहना है कि पाकिस्तान चीन के विशेष कॉरिडोर से क्षेत्र में मजबूती पैदा हुई है।

अखबारों ने चीन के राजदूत का भी एक बयान छापा है, जिसमें कहा गया है कि सीपैक प्रोजेक्ट दूसरे चरण में दाखिल हो गया है। इस चरण में खेती-किसानी पर विशेष बल दिया जाएगा। अखबारों ने ब्रिटेन के जरिए पाकिस्तान को रेड लिस्ट से बाहर किए जाने की खबरें भी दी हैं। अखबारों ने पाकिस्तान को जल्द पोलियो से मुक्त किए जाने की खबर देते हुए कहा है कि गवर्नर बलूचिस्तान ने इस सम्बंध में एक बयान जारी किया है और कहा है कि इस मकसद को पूरा करने के लिए युद्ध स्तर पर काम किया जाएगा। अखबारों ने पाकिस्तान के जरिए चीन में 8 नए इन्वेस्टमेंट काउंसलर की नियुक्ति किए जाने की खबरें भी दी हैं। अखबारों ने लिखा है कि यह काउंसलर दोनों देशों में व्यापार और निवेश को आसान बनाने का काम करेंगे।

अखबारों ने तालिबान के तरफ से दिया गया एक बयान भी प्रमुखता से छापा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि दुनिया ने अफगानिस्तान को अभी मान्यता नहीं दी तो इसके नतीजे खतरनाक होंगे। तालिबान प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद का कहना है कि फिलहाल अफगानिस्तान में कोई भी आतंकवादी मौजूद नहीं है और अगर कोई हुआ तो उसे किसी भी अन्य देश में किसी भी तरह की हरकत करने की इजाजत नहीं दी जाएगी। यह सभी खबरें रोजनामा दुनिया, रोजनामा खबरें, रोजनामा औसाफ, रोजनामा पाकिस्तान, रोजनामा एक्सप्रेस, रोजनामा नवाएवक्त और रोजनामा जंग ने अपने पहले पन्ने पर छापी हैं।

रोजनामा नवाएवक्त ने पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी का एक बयान प्रकाशित किया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि भारत को अब पाकिस्तान पर आरोप लगाना बंद कर देना चाहिए। उनका कहना है कि भारत को हकीकत का सामना करना चाहिए। उनका कहना है कि भारत दोहा में होने वाली अफगान बातचीत के कामयाबी की राह में सबसे बड़ा रुकावट बना रहा। उनका कहना है कि अगर अफगानिस्तान में स्थिति बिगड़ती है तो अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी संगठनों को अपना नेटवर्क बढ़ाने में मदद मिलेगी।

रोजनामा जंग ने जम्मू-कश्मीर से एक खबर दी है, जिसमें बताया गया है कि श्रीनगर में मस्जिदों पर ताले लगा दिए गए हैं। इसकी वजह से कल जुमा की नमाज मस्जिदों में अदा नहीं की गई है। अखबार का कहना है कि दरगाह दस्तगीर साहब, दरगाह हजरत बल, जामा मस्जिद हैदरपुरा समेत सभी बड़ी मस्जिदों के बाहर बड़ी तादाद में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। अखबार ने लिखा है कि कश्मीरियों को हैदरपुरा में हुर्रियत कांफ्रेंस के नेता सैयद अली शाह गिलानी की कब्र पर जाने की कोशिश को सुरक्षा बलों ने नाकाम बना दिया है।

From Around the web