केंद्र सरकार ने ट्विटर अधिकारियों को दी चेतावनी कहा होगी सात साल की जेल

केंद्र सरकार ने ट्विटर के हवाले से कहा कि 48 घंटे के भीतर किसानों के आंदोलन से संबंधित हैशटैग और खाते बंद कर दें, अन्यथा सख्त कार्रवाई की जाएगी। सरकार ने ट्विटर अधिकारियों को चेतावनी भी दी है कि अगर वे सरकार के आदेश का पालन नहीं करते हैं तो उन्हें सात साल तक की
 
केंद्र सरकार ने ट्विटर अधिकारियों को दी चेतावनी कहा होगी सात साल की जेल

केंद्र सरकार ने ट्विटर के हवाले से कहा कि 48 घंटे के भीतर किसानों के आंदोलन से संबंधित हैशटैग और खाते बंद कर दें, अन्यथा सख्त कार्रवाई की जाएगी। सरकार ने ट्विटर अधिकारियों को चेतावनी भी दी है कि अगर वे सरकार के आदेश का पालन नहीं करते हैं तो उन्हें सात साल तक की जेल और जुर्माना हो सकता है।

केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने आज इस संबंध में एक बयान जारी किया। मंत्रालय के सचिवों ने हाल ही में ट्विटर के अधिकारियों के साथ एक बैठक की। इसमें उन्होंने ट्विटर से आपत्तिजनक ट्वीट और अकाउंट्स पर कार्रवाई में देरी पर नाराजगी जताई।

पाकिस्तान के साथ मिलकर प्रो-खालिस्तान समर्थक, ट्विटर पर हैशटैग ‘किसान नरसंहार’ और कुछ खातों के माध्यम से गलत सूचना फैला रहे हैं। केंद्र ने हाल ही में ट्विटर को उन हैशटैग और अकाउंट को ब्लॉक करने का आदेश दिया था। हालांकि, कार्रवाई की कमी के कारण, सूचना प्रौद्योगिकी सचिव ने बैठक के दौरान ट्विटर अधिकारियों को काम करने के लिए ले लिया।

भारत में संविधान और कानून सर्वोच्च हैं। बयान के अनुसार, उन्हें अनुपालन करना होगा, अन्यथा प्रसारण अधिनियम की धारा 69 ए के तहत कार्रवाई की जाएगी। ट्विटर को यह भी याद दिलाया गया कि कुछ दिन पहले, उसी कानून के तहत कई चीनी ऐप बंद कर दिए गए थे।

From Around the web