सरकार ने एयर इंडिया के टाटा समूह के हाथ में जाने की खबरों का किया खंडन

सार्वजनिक क्षेत्र की एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया के टाटा समूह के नियंत्रण में जाने से संबंधित मीडिया में चल रही खबरों का केंद्र सरकार ने खंडन किया है। वित्त मंत्रालय
 
Government denies reports of Air India going into the hands of Tata Group
सार्वजनिक क्षेत्र की एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया के टाटा समूह के नियंत्रण में जाने से संबंधित मीडिया में चल रही खबरों का केंद्र सरकार ने खंडन किया है। वित्त मंत्रालय के निवेश एवं लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) के सचिव ने शुक्रवार को ट्वीट कर यह जानकारी दी।

दीपम के सचिव ने वित्त मंत्रालय के ट्वीटर हैंडल पर अपने ट्वीट में लिखा है कि मीडिया में इस तरह की खबरें आ रही हैं कि सरकार ने एयर इंडिया के फाइनेंशियल बिड को मंजूरी दे दी है, यह गलत है। सरकार जब भी इस पर निर्णय ले लेगी, मीडिया को इसकी जानकारी दी जाएगी।
 

Government denies reports of Air India going into the hands of Tata Group



घाटे में चल रही सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एयर इंडिया के टाटा ग्रुप और स्पाइसजेट के अजय सिंह ने बोली लगाई थी। यह दूसरा मौका है जब एयर इंडिया को बेचने की कोशिश की जा रही है। इससे पहले साल 2018 में सरकार ने कंपनी में 76 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की कोशिश की थी, लेकिन उसे कोई रिस्पांस नहीं मिला था।



उल्लेखनीय है कि 68 साल बाद फिर टाटा समूह की होगी एयर इंडिया, सरकार ने टाटा समूह की बोली को स्वीकार कर लिया है। सरकार ने पूरी 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचने के लिए टेंडर मंगाई थी। सूत्रों के मुताबिक एयर इंडिया का रिजर्व प्राइस 15 से 20 हजार करोड़ रुपये तय किया गया था। इस तरह की खबरें मीडिया में चल रही थीं। इन खबरों का खंडन करते हुए दीपम के सचिव ने सफाई दी है। उन्होंने कह कि अभी इस पर फैसला नहीं हुआ है। इस पर जब फैसला होगा तो इसकी जानकारी दी जाएगी।

From Around the web