सोने-चांदी में गिरावट, सितंबर में 1102 रुपये तक सस्ता हुआ सोना

 
Gold Became Cheaper by 1102 Rs in September

नई दिल्ली, 20 सितंबर । सर्राफा बाजार में एक बार फिर निवेश लायक माहौल बनने लगा है। सोना अपने रिकॉर्ड हाई लेवल से करीब 10 हजार रुपये गिरकर कारोबार कर रहा है। त्योहारी सीजन के पहले सोने और चांदी की कीमत में आई गिरावट निवेशकों को शुभ संकेत दे रही है। सितंबर के महीने में ही सोना अभी तक 1102 तक सस्ता हो चुका है। माना जा रहा है कि डॉलर की कीमत में आई मजबूती और देश के साथ ही वैश्विक अर्थव्यवस्था में हुई शानदार रिकवरी की वजह से सोने और चांदी जैसी चमकीली धातु पर दबाव बढ़ गया है।

अंतरराष्ट्रीय बाजार से लेकर घरेलू सर्राफा बाजार तक सोने और चांदी की कीमत में गिरावट का रुख बना हुआ है। द कमॉडिटी एक्सचेंज (कॉमेक्स) पर सोना लगातार गिरावट के दबाव में है। इसी दबाव की वजह से सोना फिलहाल 5 सप्ताह के सबसे निचले स्तर पर कारोबार कर रहा है। कॉमेक्स पर सोने का भाव 1749.40 डॉलर प्रति औंस के स्तर पर आ गया है। इसी तरह घरेलू एक्सचेंज एमसीएक्स पर सोना 46 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम के करीब आकर कारोबार कर रहा है। वायदा बाजार में आज दोपहर 1:30 बजे सोना 45,955 रुपये प्रति 10 ग्राम की कीमत पर कारोबार कर रहा था। वहीं हाजिर सोने की बात करें तो इंडियन बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन के वेबसाइट पर उपलब्ध कराई गई जानकारी के मुताबिक आज सोने की कीमत 46,185 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर बनी हुई है।

घरेलू सर्राफा बाजार में इस महीने सोने की कीमत में लगातार गिरावट का रुख बना हुआ है। 1 सितंबर को सोना 47,287 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव पर कारोबार कर रहा था, लेकिन आज इसकी कीमत 1102 रुपये प्रति 10 ग्राम टूट कर 46,185 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर आ गई है। इसी तरह चांदी की कीमत में भी इस महीने अभी तक प्रति किलोग्राम 3000 रुपये से अधिक की गिरावट दर्ज की जा चुकी है। सर्राफा बाजार में आज चांदी 59,875 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर बिक रहा है। जबकि 1 सितंबर को चांदी 62,957 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर बिक रहा था। साफ है कि इस महीने चांदी की कीमत में अभी तक 3,082 रुपये प्रति किलोग्राम की कमी आ चुकी है।

Gold Became Cheaper by 1102 Rs in September

जानकारों का कहना है कि मुद्रा बाजार में डॉलर की कीमत में आई मजबूती और वैश्विक स्तर पर अर्थव्यवस्था में लगातार हो रहे सुधार की वजह से सोना और चांदी जैसी कीमती धातु पर दबाव काफी बढ़ गया है। अनुमान लगाया जा रहा है कि आने वाले दिनों में द कमॉडिटी एक्सचेंज (कॉमेक्स) पर सोने की कीमत गिरकर 1,710 डॉलर प्रति औंस तक भी जा सकती है। वहीं घरेलू बाजार में 24 कैरेट सोना एक बार फिर 44 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर तक गिर सकता है।

कीमत में आई इस गिरावट की वजह से सोना फिलहाल ऑल टाइम हाई से 10 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम तक सस्ता हो चुका है। कोरोना की पहली लहर के दौरान अगस्त 2020 में सोना 56,200 रुपये प्रति 10 ग्राम के सर्वोच्च स्तर तक पहुंच गया था, लेकिन बाद के दिनों में जैसे-जैसे कोरोना का संक्रमण काबू में आता गया, वैसे वैसे सोने की कीमत में भी गिरावट आती गई। सोना की तरह ही चांदी भी अपने ऑल टाइम हाई लेवल से लगभग 20 हजार रुपये प्रति किलोग्राम तक सस्ती हो गयी है। चांदी की सर्वोच्च कीमत 79,980 रुपये प्रति किलोग्राम रही है, जो कि अब20,105 रुपये की गिरावट के साथ 59,875 रुपये प्रति किलोग्राम के स्तर पर आ गई है।

कमॉडिटी एक्सपर्ट मयंक श्रीवास्तव के मुताबिक निवेशकों को सोना और चांदी की कीमत में आई गिरावट से हतोत्साहित नहीं होना चाहिए, क्योंकि त्योहारी सीजन की शुरुआत होते ही सोने चांदी की कीमत में एक बार फिर उछाल आने की पूरी संभावना है। त्योहारी सीजन के तुरंत बाद ही शादी का सीजन आ जाएगा, जिस कारण घरेलू बाजार में सोने और चांदी की मांग में लगातार तेजी बनी रहेगी। इसलिए निवेशकों को अगले त्योहारी सीजन को ध्यान में रखते हुए सोने और चांदी में निवेश की अपनी योजना तैयार करनी चाहिए।
 

From Around the web