सफरनामा – ऐसे थे भारत के अनमोल रतन अटल बिहारी वाजपेयी जी

biography of Atal Bihari Vajpayee उत्तर प्रदेश में आगरा जनपद के मूल निवासी पण्डित कृष्ण बिहारी वाजपेयी मध्य प्रदेश की ग्वालियर रियासत में अध्यापक थे। वहीं शिन्दे की छावनी में 25 दिसम्बर 1924 को उनकी सहधर्मिणी कृष्णा वाजपेयी की कोख से अटल जी का जन्म हुआ था। पिता कृष्ण बिहारी वाजपेयी ग्वालियर में अध्यापन कार्य करते
 
सफरनामा – ऐसे थे भारत के अनमोल रतन अटल बिहारी वाजपेयी जी

biography of Atal Bihari Vajpayee उत्तर प्रदेश में आगरा जनपद के मूल निवासी पण्डित कृष्ण बिहारी वाजपेयी मध्य प्रदेश की ग्वालियर रियासत में अध्यापक थे। वहीं शिन्दे की छावनी में 25 दिसम्बर 1924 को उनकी सहधर्मिणी कृष्णा वाजपेयी की कोख से अटल जी का जन्म हुआ था। पिता कृष्ण बिहारी वाजपेयी ग्वालियर में अध्यापन कार्य करते थे। इसके अतिरिक्त वे हिन्दी व ब्रज भाषा के सिद्धहस्त कवि भी थे। पुत्र में काव्य के गुण वंशानुगत परिपाटी से प्राप्त हुए।

सफरनामा – ऐसे थे भारत के अनमोल रतन अटल बिहारी वाजपेयी जी
Photo Credit : Livemint

Tags:  उमर खाल,  स्वतंत्रता दिवस,  आतंकी हमला अलर्ट, डीएमके बैठक, श्रीदेवी,  सुई धागा, पाकिस्तान, ट्रिपल तलाक, नरेंद्र मोदी, भारतीय क्रिकेट टीम, अरविंद केजरीवाल, सारा अली खान, इंजीनियर, फांसी, सत्यमेव जयते, अटल बिहारी वाजपेयी, स्मृति ईरानी, चुनाव आयोग, अजीत वाडेकर, टीम इंडिया, कांग्रेस

देश की बागडोर संभाली

सफरनामा – ऐसे थे भारत के अनमोल रतन अटल बिहारी वाजपेयी जी
Photo Credit : Loksatta

अटल बिहारी वाजपेयी ने भारतीय जनसंघ की स्थापना की व सन् 1938 से 1973 तक उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष भी रहे। सन् 1955 में उन्होंने पहली बार लोकसभा चुनाव में असफल होने पर भी उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और सन् 1957 में बलरामपुर जिला गोण्डा, उत्तर प्रदेश से जनसंघ के प्रत्याशी के रूप में विजयी होकर लोकसभा में पहुँचे। लोकतन्त्र के सजग प्रहरी अटल बिहारी वाजपेयी ने सन् 1997 में प्रधानमन्त्री के रूप में देश की बागडोर संभाली। 19 अप्रैल 1998 को पुनः प्रधानमन्त्री पद की शपथ ली और उनके नेतृत्व में 13 दलों की गठबन्धन सरकार ने पाँच वर्षों में देश के अन्दर प्रगति के अनेक आयाम छुए।

परमाणु परीक्षण

सफरनामा – ऐसे थे भारत के अनमोल रतन अटल बिहारी वाजपेयी जी
Photo Credit : StarsUnfolded

अटल सरकार ने 11 और 13 मई 1998 को पोखरण में पाँच भूमिगत परमाणु परीक्षण विस्फोट करके भारत को परमाणु शक्ति संपन्न देश घोषित कर दिया। इस कदम से उन्होंने भारत को निर्विवाद रूप से विश्व मानचित्र पर एक सुदृढ वैश्विक शक्ति के रूप में स्थापित कर दिया। बाजपेयी जी ने पाकिस्तान की यात्रा करके नवाज़ शरीफ से मुलाकात की और आपसी संबंधों में एक नयी शुरुआत की लेकिन पाकिस्तानी सेना व उग्रवादियों ने कारगिल क्षेत्र में घुसपैठ करके कई पहाड़ी चोटियों पर कब्जा कर लिया। अटल सरकार ने पाकिस्तान की सीमा का उल्लंघन न करने की अंतर्राष्ट्रीय सलाह का सम्मान करते हुए धैर्यपूर्वक किंतु ठोस कार्यवाही करके भारतीय क्षेत्र को मुक्त कराया।

भारत में सड़कों का निर्माण

सफरनामा – ऐसे थे भारत के अनमोल रतन अटल बिहारी वाजपेयी जी
Photo Credit : Gulte

भारत भर के चारों कोनों को सड़क मार्ग से जोड़ने के लिए स्वर्णिम चतुर्भुज परियोजना की शुरुआत की गई। इसके अंतर्गत दिल्ली, कलकत्ता, चेन्नई व मुम्बई को राजमार्ग से जोड़ा गया। ऐसा माना जाता है कि अटल जी के शासनकाल में भारत में जितनी सड़कों का निर्माण हुआ इतना केवल शेरशाह सूरी के समय में ही हुआ।

फ्री 400 रुपये Paytm पाने के लिए – यहां क्लिक करें

जिओ में निकली Freedom Sale :- 

Jio 2 Smartphone  मोबाइल को 499 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

JIO Mini SmartWatch को 199 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

JioFi M2 को 349 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

Jio Fitness Tracker को 99 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

Video Zone ::  Women Motivation Video must watch to everyone | Amazing | Inspired

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

From Around the web