सरकार का बड़ा फैसला: चीन-पाकिस्तान के साथ तनाव के बीच लिया ये बड़ा फैसला, जिसे बढ़ेगी भारतीयसेना की ताकत

रक्षा अधिग्रहण परिषद (डीएसी) ने अपनी बैठक में कल भारतीय सेना, भारतीय नौसेना और भारतीय वायु सेना के लिए आवश्यक विभिन्न हथियारों / प्लेटफार्मों / उपकरणों / प्रणालियों की खरीद के लिए धन जुटाने के प्रस्तावों को मंजूरी दे दी। इसका कुल अनुमानित मूल्य लगभग 28,000 करोड़ रुपये है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता
 
सरकार का बड़ा फैसला: चीन-पाकिस्तान के साथ तनाव के बीच लिया ये बड़ा फैसला, जिसे बढ़ेगी भारतीयसेना की ताकत

रक्षा अधिग्रहण परिषद (डीएसी) ने अपनी बैठक में कल भारतीय सेना, भारतीय नौसेना और भारतीय वायु सेना के लिए आवश्यक विभिन्न हथियारों / प्लेटफार्मों / उपकरणों / प्रणालियों की खरीद के लिए धन जुटाने के प्रस्तावों को मंजूरी दे दी। इसका कुल अनुमानित मूल्य लगभग 28,000 करोड़ रुपये है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में रक्षा अधिग्रहण परिषद ने घरेलू रक्षा बाजार से 27,000 करोड़ रुपये के उपकरण खरीदने के प्रस्तावों को मंजूरी दी है। उल्लेखनीय है कि सरकार के इस निर्णय से मेक इन इंडिया और सेल्फ-इस्टेंट इंडिया अभियान को गति मिलेगी और यह भारत को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में एक कदम है।

डीएसी की बैठक में लिया गया एक महत्वपूर्ण निर्णय

रक्षा अधिग्रहण परिषद (DAC) ने आज भारतीय सेना, भारतीय नौसेना और भारतीय वायु सेना के लिए आवश्यक विभिन्न हथियारों / प्लेटफार्मों / उपकरणों / प्रणालियों के लिए पूंजी अधिग्रहण प्रस्तावों को मंजूरी दे दी। इसका कुल अनुमानित मूल्य लगभग 28,000 करोड़ रुपये है। भारत चीन और पाकिस्तान के साथ तनाव के कारण विभिन्न मोर्चों पर अपनी सेना को मजबूत करने की तैयारी कर रहा है, जिसने हाल ही में सेना को 10 के बजाय 15 दिनों के लिए गोला-बारूद और हथियारों को रखने की अनुमति दी थी।

रक्षा अधिग्रहण प्रक्रिया 2020 की नई प्रणाली के तहत डीएसी की यह पहली बैठक है। सात प्रस्तावों में से छह, जिनका मूल्य 27,000 करोड़ रुपये है, घरेलू बाजार से खरीदे जाएंगे। निर्णय घरेलू बाजार को बढ़ावा देने के उद्देश्य से है, जो ‘मेक इन इंडिया’ और ‘आत्मनिर्भर भारत’ का मुख्य उद्देश्य है।

सेना के तीनों विभागों के लिए हथियार खरीदे जाएंगे

आज जिन प्रस्तावों को अपनाया गया है, उनमें भारतीय वायु सेना के लिए DRDO द्वारा डिजाइन किए गए एयरबोर्न अर्ली वार्निंग एंड कंट्रोल AWACS सिस्टम, भारतीय नौसेना के लिए अगली पीढ़ी के गश्ती जहाजों और भारतीय सेना के लिए मॉड्यूलर पुल शामिल हैं।

From Around the web