मेक इन इंडिया को एक और झटका, हार्ले-डेविडसन ने भारत को किया बाहर, उत्पादन और बिक्री पर लगाई रोक

Harley Davidson: कोरोना के दौर में मोदी सरकार के महत्वाकांक्षी मेक-इन-इंडिया अभियान को एक के बाद एक तगड़ा झटका लगा है, जिसमें अमेरिका की अग्रणी दोपहिया वाहन निर्माता कंपनी Harley Davidson ने झटका दिया है। अमेरिकी मोटरसाइकिल निर्माता हार्ले-डेविडसन ने घोषणा की है कि वह भारत में उत्पादन और बिक्री को रोक देगी। कंपनी लंबे
 
मेक इन इंडिया को एक और झटका, हार्ले-डेविडसन ने भारत को किया बाहर, उत्पादन और बिक्री पर लगाई रोक

Harley Davidson: कोरोना के दौर में मोदी सरकार के महत्वाकांक्षी मेक-इन-इंडिया अभियान को एक के बाद एक तगड़ा झटका लगा है, जिसमें अमेरिका की अग्रणी दोपहिया वाहन निर्माता कंपनी Harley Davidson ने झटका दिया है। अमेरिकी मोटरसाइकिल निर्माता हार्ले-डेविडसन ने घोषणा की है कि वह भारत में उत्पादन और बिक्री को रोक देगी।

कंपनी लंबे समय से इसका संकेत दे रही है और आज उसने आधिकारिक तौर पर घोषणा की है कि वह भारत में अपने परिचालन को बंद कर देगी। इसके साथ, हार्ले डेविडसन अपने उत्पादन को रोकने वाली भारत की तीसरी ऑटो कंपनी बन गई है। पिछले हफ्ते, टोयोटा किर्लोस्कर ने भारत में नए निवेश की घोषणा नहीं की। इससे पहले, जनरल मोटर्स ने भारत में उत्पादन बंद कर दिया था।

भारत छोड़ने का फैसला क्यों किया?

हार्ले-डेविडसन ने अपनी लागत में 75 मिलियन की कटौती करने की योजना बनाई है, जिसके तहत कंपनी अपने भारत-आधारित विनिर्माण को बंद कर देगी। कंपनी अपने कारोबार का पुनर्गठन भी करने जा रही है।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि वह कुछ वैश्विक बाजारों से बाहर निकलेगी और भारत में अपनी बिक्री और विनिर्माण कार्यों को बंद कर देगी। अभी दो महीने पहले हार्ले ने संयुक्त राज्य अमेरिका जैसे अधिक आकर्षक प्रमुख बाजारों पर ध्यान केंद्रित करने की एक रणनीति के बारे में जानकारी दी।

10 साल पहले भारतीय बाजार में प्रवेश करने वाली अमेरिकी दोपहिया वाहन निर्माता कंपनी हार्ले-डेविडसन भारत में बड़े स्तर पर पैर जमाने में नाकाम रही है।

वित्त वर्ष 2019-2020 में, कंपनी ने भारत में केवल 2500 बाइक बेचीं। कोरोना महामारी और ऑटो सेक्टर में मौजूदा गिरावट के बीच कंपनी इस साल अप्रैल से जून तक केवल 100 बाइक ही बेच पाई है। हार्ले-डेविडसन ने जुलाई में अपने दूसरी तिमाही के परिणामों की घोषणा करने के तुरंत बाद कहा कि कंपनी वैश्विक बाजार से बाहर निकलने की अपनी योजनाओं का मूल्यांकन कर रही थी।

From Around the web