कश्मीर के बाद अब पीएम मोदी कारगिल और लद्दाख में राजनीतिक दल के नेताओं के साथ करेंगे बैठक

जम्मू-कश्मीर पर सर्वदलीय बैठक बुलाने के बाद केंद्र सरकार ने अब कारगिल और लद्दाख में राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ बैठक शुरू कर दी है. इसके तहत 1 जुलाई को कारगिल और लद्दाख के नेताओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं को बैठक के लिए आमंत्रित किया गया है. उल्लेखनीय है कि कश्मीर की वर्तमान स्थिति और
 
कश्मीर के बाद अब पीएम मोदी कारगिल और लद्दाख में राजनीतिक दल के नेताओं के साथ करेंगे बैठक

जम्मू-कश्मीर पर सर्वदलीय बैठक बुलाने के बाद केंद्र सरकार ने अब कारगिल और लद्दाख में राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ बैठक शुरू कर दी है. इसके तहत 1 जुलाई को कारगिल और लद्दाख के नेताओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं को बैठक के लिए आमंत्रित किया गया है.

उल्लेखनीय है कि कश्मीर की वर्तमान स्थिति और भविष्य को लेकर केंद्र सरकार यह पहल कर रही है. 24 जून को हुई सर्वदलीय बैठक का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर के नेताओं से कहा कि बैठक दिल और दिल्ली के बीच की दूरी को पाटने के लिए हुई थी. बैठक के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट किया कि हमारे लोकतंत्र की सबसे बड़ी ताकत इसकी मेज पर बैठने और विचारों का आदान-प्रदान करने की क्षमता है।

सर्वदलीय बैठक में 8 दलों के नेताओं ने भाग लिया

24 जून की बैठक के बाद, पीएम मोदी ने कहा कि उन्होंने जम्मू-कश्मीर के नेताओं से लोगों, खासकर युवाओं को राजनीतिक नेतृत्व देने और उनकी उम्मीदों पर खरा उतरने की अपील की। सर्वदलीय बैठक में आठ दलों के 14 नेताओं ने भाग लिया।

नेताओं में नेशनल कॉन्फ्रेंस के वरिष्ठ नेता फारूक अब्दुल्ला, उनके बेटे और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की प्रमुख महबूबा मुफ्ती और पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद शामिल थे।

From Around the web