इस चाय बनाने के फोर्मुले को फॉलो करें , नही देगी चाय कभी आपको नुक्सान

आमतौर पर चाय बनाने का तरीका एक ही होता है. पहले एक बर्तन में पानी लिया, उसमें दूध, चीनी और चायपत्ती डाली और एक उबाल आने के बाद आपकी गर्मागर्म चाय तैयार हो गयी. लेकिनआप शायद नहीं जानते हैं कि यह चाय बनाने का बिल्कुल गलत तरीका है. इससे चाय के सभी तत्व खत्म हो
 
इस चाय बनाने के फोर्मुले को फॉलो करें , नही देगी चाय कभी आपको नुक्सान

आमतौर पर चाय बनाने का तरीका एक ही होता है. पहले एक बर्तन में पानी लिया, उसमें दूध, चीनी और चायपत्ती डाली और एक उबाल आने के बाद आपकी गर्मागर्म चाय तैयार हो गयी. लेकिनआप शायद नहीं जानते हैं कि यह चाय बनाने का बिल्कुल गलत तरीका है. इससे चाय के सभी तत्व खत्म हो जाते हैं और ऐसी चाय आपके लिये नुकसानदेह भी हो सकती है.

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

अगर आप बेरोजगार हैं तो यहां पर निकली है इन पदों पर भर्तियां

दसवीं पास लोगों के लिए इस विभाग में मिल रही है बम्पर रेलवे नौकरियां

इस चाय बनाने के फोर्मुले को फॉलो करें , नही देगी चाय कभी आपको नुक्सान

हाल ही में ब्रिटिश स्टैंडर्ड इंस्टिट्यूट ने चाय बनाने का सही तरीका बताया है.इस फोर्मुले को फॉलो करके आप की चाय की तारीफ चारों ओर होने लगेगी. तो चलिए बताते हैं चाय बनाने का सही तरीका-

सबसे पहले एक अलग बर्तन में दूध को अच्छी तरह से उबाल लें. जब दूध उबल रहा हो तो उसे चम्मच से चलाते रहें ताकि वो उफना नहीं जाये. दूसरी तरफ एक बर्तन में 100 मिलीग्राम पानी में 2 ग्राम चायपत्ती मिलाकर उसे 85 डिग्री तक गर्म करें. चायपत्ती को ज्यादा देर तक ना उबाल कर केवल 6 मिनट तक ही उबालें, इससे पानी में चायपत्ती का रस सही मात्रा में निकल कर आता है.

इस चाय बनाने के फोर्मुले को फॉलो करें , नही देगी चाय कभी आपको नुक्सान

अगर आप कड़क चाय पीना पसंद करते हैं तो आप इसमें अदरक मिला सकते हैं. इसके लिए आप अदरक को कूटें नहीं बल्कि कद्दूकस करके डाले ताकि अदरक का रस पानी में अच्छी तरह से मिल जाए. अदरक को कूटने से सारा रस ओखली या कूटने वाले बर्तन में ही रह जाता है और अदरक के सभी विटामिन और मिनरल्स उसी में छूट जाते हैं.

इस चाय बनाने के फोर्मुले को फॉलो करें , नही देगी चाय कभी आपको नुक्सान

जब चायपत्ती में एक बार उबाल आ जाएं, तो उसमें अदरक कसकर डाल दें और फिर एक बार उबाल आने के बाद इस चायपत्ती वाले पानी को चीनी मिट्टी के कप में छान लें. अब स्वादानुसार उसमें गर्म दूध और चीनी मिला लें.

अच्छी चाय में हमेशा पानी के साथ चाय की पत्ती का अनुपात समुचित होना चाहिए. अगर आप एक कप चाय बना रहे हैं तो पानी में केवल आधा चम्मच ही चायपत्ती डालें. इससे चाय के पोषक तत्व बने रहेंगे और चाय में कड़वापन भी नहीं आएगा. चाय सर्व करते समय चाय का तापमान 60 डिग्री से कम नहीं होना चाहिए. लेकिन बहुत ज्यादा गर्म चाय भी आपके स्वास्थ्य के लिये हानिकारक होती है. इसलिए चाय को कप में कम से कम 2-3 मिनट तक रखने के बाद ही पीना चाहिए.

इस चाय बनाने के फोर्मुले को फॉलो करें , नही देगी चाय कभी आपको नुक्सान

कई बार बारिश और ठंड में लोग ज्यादा चाय पीने लगते हैं. लेकिन इससे एसिडिटी और पेट में जलन की समस्या हो सकती है. इसी तरह रात के वक्त चाय पीने से इसमें पाए जाने वाले कैफीन के कारण आप अनिद्रा के शिकार हो सकते हैं.

जिन लोगों को बेड-टी पीने की आदत है वह खाली पेट सीधे चाय न पिएं बल्कि सबसे पहले उठकर एक गिलास गर्म पानी लें. फिर एक-दो बिस्किट खा कर ही चाय पिएं. यही चाय पीने का सही तरीका है. दिन में केवल 2-3 कप ही चाय का सेवन करन चाहिए.

From Around the web