सागर: बाल संप्रेषण गृह से भागने के मामले में पुलिस ने तीन को पकड़ा, दो अभी भी फरार

सागर के सिविल लाइन थाना क्षेत्र के राजघाट रोड स्थित बाल संप्रेषण गृह में बाल अपराधियों ने नल की टोंटी को घिसकर पहले हथियार बनाया, फिर चौकीदार पर हमला कर जेल से
 
Sagar Police caught three in case of escaping from child communication home two still absconding
सागर के सिविल लाइन थाना क्षेत्र के राजघाट रोड स्थित बाल संप्रेषण गृह में बाल अपराधियों ने नल की टोंटी को घिसकर पहले हथियार बनाया, फिर चौकीदार पर हमला कर जेल से भाग गए। घटना गुरुवार रात की बताई जा रही है। बाल अपराधियों के हमले में एक चौकीदार व होमगार्ड के जवान को चोटें आई हैं। पुलिस ने रात भर सर्चिंग कर तीन अपराधियों को शुक्रवार तड़के तक गिरफ्तार कर लिया, जबकि दो की तलाश अभी भी जारी है। वहीं घायल होमगार्ड जवान को जिला अस्पताल से इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई है।

बताया जा रहा है कि सिविल लाइन थाना क्षेत्र के राजघाट रोड पर स्थित बाल सुधार गृह में रात करीब सवा 11 बजे अंदर मौजूद चौकीदार पर पांच बालकों ने हमला कर उससे चाबी चीन ली, इसके बाद वह बाहर वाले गेट पर पहुंचे, जहां तैनात होमगार्ड जवान पर उन्होंने हमला किया। गार्ड ने जब हमले का प्रतिकार किया तो आरोपियों ने गार्ड पर लोहे की नुकीली चीज से उसके चेहरे पर हमला कर दिया, जिसके बाद वह अचेत हो गया। हमले के बाद आरोपित वहां से भाग गए। इसकी सूचना चौकीदार और होमगार्ड ने पुलिस व वरिष्ठ अधिकारियों को दी। मौके पर अधिकारी पहुंचे और उन्होंने सुधार गृह में बंद आरोपितों की गिनती की, जिसमें पांच आरोपित कम पाए गए। तुरंत ही उनकी जानकारी निकाल कर सभी थाना पुलिस को भेजा गया। रात में ही सर्चिंग शुरू हुई, जिसके बाद सुबह चार बजे तक शहर के अलग-अलग एरिया से तीन आरोपितों को ढूंढ कर पकड़ लिया गया।

Sagar Police caught three in case of escaping from child communication home two still absconding




महिला बाल विकास विभाग की हैं व्यवस्थाएं



यह बाल सुधार गृह का संचालन महिला बाल विकास विभाग द्वारा किया जाता है। इस घटना के पीछे विभाग के अधिकारियों की लापरवाही सामने आ रही है। सुधार गृह की व्यवस्थाओं के लिए यहां नियुक्त यहां के खुद चौकीदार की भर्ती ही संदिग्ध है। बगैर किसी योग्यता और परख के ही अधिकारियों ने नियुक्ति दे दी। कहा जा रहा है कि महिला बाल विकास विभाग द्वारा 50 हजार रुपए लेकर चौकीदार की नियुक्ति करने की चर्चा भी है।

From Around the web