कुख्यात गैंगस्टर लाॅरेंस विश्नोई व सम्पत नेहरा गिरफ्तार

 
Notorious gangsters Lawrence Vishnoi and Sampat Nehra arrest

जयपुर, 25 सितम्बर । जयपुर शहर के एक व्यापारी को इन्टनेट काॅल के द्वारा एक करोड रुपये की प्रोटेक्शन मनी की मांग करने वाले कुख्यात गैंगस्टर लाॅरेंस विश्नोई व सम्पत नेहरा को प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार किया गया है।

अतिरिक्त पुलिस कमिश्नर अजयपाल लांबा ने बताया कि कुख्यात गैंगस्टर लाॅरेंस विश्नोई पंजाब का रहने वाला है तथा उसका साथी सम्पत नेहरा चूरू राजस्थान का रहने वाला है। जिनके विरूद्ध राजस्थान, पंजाब, हरियाणा ,दिल्ली व चण्डीगढ व अन्य राज्यों में हत्या, हत्या का प्रयास ,लूट ,अपहरण, मारपीट, फिरौती मांगने से जुडे लगभग 85 मुकदमें दर्ज है। दोनों अपराधी तिहाड़ जेल व मण्डोली जेल दिल्ली में न्यायिक हिरासत में रहते हुये बाहर अपनी गैंग को ऑपरेट करते है तथा इन्टरनेट काॅल के जरिये विभिन्न शहरों के व्यापारियों व उद्यमियों को प्रोटेक्शन मनी के लिये धमकी देकर भयभीत करते है। पुलिस थाना विद्याधर नगर जयपुर व राजगढ चूरू में भी इसी तरह प्रतिष्ठित व्यवसायियों को धमकियां दी गई है। विश्नोई व नेहरा को प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार कर गांधीनगर थाना में लाया गया है।

लांबा ने बताया कि जयपुर शहर के एक व्यापारी को एक अज्ञात नम्बर से वाट्सअप काॅल आया था और काॅल करने वाले व्यक्ति ने स्वयं को कुख्यात गैंगस्टर लाॅरेंस विश्नोई बताया और व्यापारी को प्रोटेक्शन मनी के नाम पर एक करोड रुपये देने के लिये धमकी दी। जिस पर पुलिस थाना जवाहर नगर पर प्रकरण पंजीबद्ध किया गया। इस प्रकरण के अनुसंधान से स्पष्ट हुआ कि उक्त धमकी की काॅल इन्टरनेट के जरिये रूट करवाकर वाट्सअप कालिंग से धमकी दी गई थी। यह धमकी भरी काॅल सम्पत नेहरा द्वारा मण्डोली जेल दिल्ली से की गई थी और काॅल करने में काम में ली गई सिम तिहाड जेल में बंद लाॅरेंस विश्नोई द्वारा इस अपराध को कारित करने के मकसद से सम्पत नेहरा तक पहुंचाई गई थी। लाॅरेंस विश्नोई एवं सम्पत नेहरा द्वारा अवैध वसूली एवं फिरौती के लिये राशि वसूलने के षड़यंत्र के तहत यह अपराध कारित किया गया है। दोनों अपराधियों द्वारा कानूनी पकड़ से बचने के लिये किये गये वाट्सअप काॅल में अन्तर्राष्टीय प्लेटफाॅर्म को उपयोग में लिया गया।

Notorious gangsters Lawrence Vishnoi and Sampat Nehra arrest

50 से अधिक जवानों की मौजूदगी में जयपुर लाया गया

लॉरेंस और सम्पत को लाने के लिए स्पेशल कमांडो व क्यूआरटी (क्विक रेस्पॉन्स टीम) दिल्ली गई थी। 50 से अधिक जवानों की मौजूदगी में जयपुर लाया गया। दोनों को जयपुर में गांधीनगर थाने के स्पेशल सेल में रखा गया है। गांधीनगर थाने में लॉरेंस की मौजूदगी को देखते हुए आसपास सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद कर दी गई है। जेएलएन रोड से गांधीनगर की ओर आने वाले रास्ते को बंद कर दिया गया है। सड़क के दोनों ओर पुलिस का भारी जाब्ता लगाया गया है। थाने के बाहर भी काफी संख्या में पुलिस जाप्ता लगाया है।

गौरतलब है कि आरोपित लॉरेंस छात्र संगठन सोपू भी चलाता है। छात्र संगठन के जरिए ही युवाओं को अपने साथ जोड़ा। यूनिवर्सिटी में चुनाव हारने का बदला लेने के लिए पहली बार फायरिंग की थी। अब लॉरेंस पर 50 से ज्यादा हत्या, लूट के मामले दर्ज हैं। जेल में बैठकर गैंग ऑपरेट करता है। काले हिरण शिकार मामले में सलमान की हत्या करने की धमकी दी थी। खास गुर्गे संपत नेहरा को हत्या करने मुंबई में भी भेजा था।

From Around the web