दो टीम में बंट गए दिल्ली-एनसीआर के गैंगस्टर

 
Gangsters of DelhiNCR divided into two teams
नई दिल्ली, 04 अक्टूबर राजधानी दिल्ली-एनसीआर में बदमाशों के बीच आने वाले समय में बड़ी गैंगवार हो सकती है। गैंगवार का सबसे बड़ा कारण गैंगस्टरों का दो टीम में होना है। एक टीम टिल्लू की है, जिसमें नीरज बवाना सहित कई नामी गैंगस्टर अपने गुर्गों के साथ है, जबकि दूसरी टीम गोगी गैंग की है जिसे कई बड़े गैंगस्टर मदद कर रहे है। गोगी की हत्या के बाद वह टिल्लू और उसकी टीम में जुड़े गैंगस्टरों पर हमला करने की फिराक में है। इसके चलते न केवल दिल्ली पुलिस बल्कि जेल प्रशासन भी अलर्ट है।

दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त नीरज ठाकुर ने बताया कि बीते 24 अक्टूबर को रोहिणी कोर्ट में जितेंद्र गोगी की हत्या कर दी गई थी। यह हत्या उसके विरोधी टिल्लू के शूटरों द्वारा अंजाम दी गई थी। इस हत्या के बाद से गोगी के गैंग के सदस्य बदला लेने के लिए मौका तलाश रहे हैं। उन्होंने बताया कि अभी के समय में न केवल दिल्ली एनसीआर बल्कि पंजाब तक के गैंगस्टर भी इनसे जुड़ गए हैं। कनाडा में बैठकर पंजाब में ऑपरेट करने वाले गोल्डी बरार नामक बदमाश ने गोगी के गुर्गों का इस्तेमाल कर हाल ही में हत्या को अंजाम दिलवाया है। इससे यह साफ हो गया है कि वह भी इस गैंग से जुड़ चुका है।

विशेष आयुक्त ने बताया कि अभी के समय में गैंगस्टर मुख्य रूप से दो टीमों में बंटे हुए दिख रहे हैं। एक टीम जितेंद्र गोगी की है जिसमें उसके शूटरों के अलावा गैंग को लीड कर रहा दीपक बॉक्सर है। उनके साथ लॉरेंस बिश्नोई, काला जठेड़ी, अशोक प्रधान, गोल्डी बरार, हाशिम बाबा, संपत नेहरा आदि गैंग शामिल है, वहीं दूसरी तरफ टिल्लू का गैंग है जिसके साथ नीरज बवाना, नवीन बाली, नासिर, सुनील राठी आदि गैंग जुड़े हुए हैं। सूत्रों की माने तो इनमें से अधिकांश बदमाश दिल्ली की अलग-अलग जेलों में बंद है, लेकिन कहीं ना कहीं वह एक दूसरे गैंग पर हमला करने के लिए मौका तलाश रहे हैं।

दोनों ही टीम में बंटे अधिकतर गैंगस्टर पर मकोका लगा हुआ है जिसकी वजह से वह जेल से बाहर नहीं निकल सकते, लेकिन जेल के भीतर भी वह एक दूसरे पर हमला कर सकते हैं। इसकी वजह से जेल प्रशासन को पुलिस को तरफ से इन गैंग से संबंधित इनपुट दिए जा रहे हैं। इसके अलावा इन दोनों ही टीम से जुड़े हुए गैंगस्टरों को लेकर अपराध शाखा और स्पेशल सेल काम कर रही है, ताकि इनके बीच की गैंगवार को रोका जा सके।

 

From Around the web