डिस्कॉम के टेक्निकल हेल्पर ने अवैध कनेक्शन देकर की वसूली, अब निलम्बित

 
Discoms technical helper recovered by giving illegal connection now suspended

नागौर, 17 सितंबर (हि.स.)। जिले के मकराना क्षेत्र के कालवा गांव में डिस्कॉम के एक टेक्नीकल हेल्पर ने सारी हदें पार करते हुए स्वयं के स्तर पर ही बिजली घर का संचालन शुरू कर दिया। ग्रामीणों से डिमांड नोट के नाम पर तीन-तीन हजार रुपये वसूल लिए। बगैर किसी कागजी खानापूर्ति के पोल से बिजली कनेक्शन देकर मीटर भी लगा दिए। कनेक्शन के ढाई साल बीत जाने पर भी जब ग्रामीणों के बिल नहीं आए तो उन्होंने डिस्कॉम ऑफिस में संपर्क किया, तब उन्हें पता चला कि उनके तो कनेक्शन ही फर्जी है। अब मामला खुलने के बाद डिस्कॉम ने आरोपित टेक्नीकल हैल्पर को निलंबित कर दिया है।

कालवा गांव में डिस्कॉम ने टेक्निकल हैल्पर रामनिवास पुत्र मगनाराम मेघवाल को तीन साल से फीडर इंचार्ज बना रखा था। वहां पर काम के दौरान लोगों ने उससे बिजली कनेक्शन करवाने के लिए संपर्क किया। ग्रामीण रूघाराम पुत्र डगलाराम, गोपाल पुत्र डगलाराम, मनोहर पुत्र जोर सिंह, अमर सिंह पुत्र छोटूसिंह, मदन सिंह पुत्र उदय सिंह के बिजली कनेक्शन को ढाई साल बीत गए पर बिल नहीं आया। इस पर उन्होंने पहले फीडर इंचार्ज रामनिवास से तकाजा किया। बिल नहीं आया तो ग्रामीण डिस्कॉम कार्यालय पहुंच गए। पूछताछ में उन्होंने कनेक्शन के दौरान रामनिवास द्वारा कोई रसीद नहीं दिए जाने की जानकारी दी जिस पर अधिकारियों का शक गहराया। जांच की तो पाया कि उनके कनेक्शन ही फर्जी थे और डिस्कॉम के मीटर टांग दिए गए थे। उधर, इस घपले की जानकारी मिलते आनन-फानन में जेईएन राहुल सिंह ने कालवा पहुंचकर सभी के मीटर उतार लिए। ग्रामीणों ने अधिशाषी अभियंता मुकुल कुलश्रेष्ठ को पत्र देकर बताया कि वर्ष 2018 में फीडर इंचार्ज रामनिवास मेघवाल ने बिजली कनेक्शन की फाईल के साथ डिमांड नोट के तीन-तीन हजार रुपये जमा करवाए थे। फाइल जमा की रसीद की मांग करने पर उसने उन्हें नहीं दी। अब ग्रामीणों ने स्वयं को निर्दोष बताया है।

अधिशाषी अभियंता मुकुल कुलश्रेष्ठ ने एईएन ग्रामीण महेश कुमार की जांच रिपोर्ट के आधार पर टेक्निकल हेल्पर व कालवा फीडर इंचार्ज रामनिवास को सस्पेंड कर दिया है। निलंबन काल में रामनिवास का मुख्यालय खींवसर का सहायक अभियंता कार्यालय किया गया है।

डिस्कॉम के सहायक अभियंता ग्रामीण ने कालवा फीडर इंचार्ज रामनिवास को बिजली मीटर जारी किए हुए थे। अब वर्तमान में पदस्थापित एईएन महेश कुमार ने रामनिवास से अब तक उसे इश्यू किए गए मीटर, वैद्य उपभोक्ताओं के लगाए हुए मीटर एवं स्टॉक में मौजूद मीटर का ब्यौरा मांगा है। उन्होंने बताया कि डिस्कॉम के संज्ञान में मामला आते ही कालवा क्षेत्र में प्रत्येक कनेक्शन की जांच की जा रही है। डिस्कॉम के एक्सईएन मुकुल कुलश्रेष्ठ, एईएन महेश कुमार, जेईएन राहुल सिंह ने विशेष टीम के साथ कालवा क्षेत्र का दौरा कर कनेक्शनों की जांच की जिसमें पांच जनों के फर्जी मीटर पाए गए, जो उतारे गए हैं। अब तक फर्जी तरीके से लगाए दस मीटर जब्त किए गए हैं। टीम ने कालवा में बाजियों की ढाणी निवासी गुमानाराम पुत्र नारायणराम, कालवा निवासी उगमाराम पुत्र बोदूराम बावरी, अनिल पुत्र बजरंग लाल जांगीड़, कैलाश पुत्र नाथूराम जांगीड़, जगन्नाथ पुत्र पूसाराम डारा के मीटर उतारे हैं।

डिस्कॉम के मकराना अधिशाषी अभियंता मुकुल कुलश्रेष्ठ ने बताया कि कालवा में फीडर इंचार्ज द्वारा भारी अनियमितताएं बरतने का मामला प्रकाश में आया है। अब तक फर्जी तरीके से लगाए गए दस मीटर उतारे जा चुके हैं। टीएच रामनिवास को सस्पेंड कर दिया है। मामले की जांच एईएन एसके रावल को सौंपी है।

Discoms technical helper recovered by giving illegal connection now suspended

From Around the web