स्त्री की आँखों के हाव-भाव से जान सकते है उनके चरित्र के बारे में, कैसे अभी पढ़ें

सामुद्रिकशास्त्र मनुष्य के व्यवहार को पढ़कर उनके विषय में भविष्यवाणी करता है एक बार जब नारद मुनि ने ब्र्ह्मा देव से स्त्रीओ के चरित्र के विषय में जानने के लिए पूछा जब उन्हें ब्र्ह्मा ने उन्हें स्त्री और पुरुषो के विषय में चरित्र ज्ञान दिया जो काफी अनमोल है लेकिन आधुनिक जीवन शैली में ये
 
स्त्री की आँखों के हाव-भाव से जान सकते है उनके चरित्र के बारे में, कैसे अभी पढ़ें

सामुद्रिकशास्त्र मनुष्य के व्यवहार को पढ़कर उनके विषय में भविष्यवाणी करता है एक बार जब नारद मुनि ने ब्र्ह्मा देव से स्त्रीओ के चरित्र के विषय में जानने के लिए पूछा जब उन्हें ब्र्ह्मा ने उन्हें स्त्री और पुरुषो के विषय में चरित्र ज्ञान दिया जो काफी अनमोल है लेकिन आधुनिक जीवन शैली में ये ज्ञान लुप्त रहा है !

जिस स्त्री की नजरें ऊपर की ओर रहती हैं, वह सरल हृदय वाली पुण्यात्मा होती है जिसकी दृष्टि नीचे की ओर होती है, वह कुकर्म करने वाली होती है। जो स्त्री आंखों में आंखें डालकर बातें करे, वह आत्मविश्वासी होती है। कुंडली में यदि कोई दोष हो तो चरित्रहीन होती है।

जो छिप-छिपकर देखे, वह विषयासक्ता होती है जो छिप-छिपकर देखे, वह विषयासक्ता होती है जिसकी नजरों में मुस्कुराहट हो, वह दयालु एवं मिलनसार होती है। किसी स्त्री की कनिष्ठा पैर की अंगुली भूमि का स्पर्श न करें तो वह एक पति को त्याग कर दूसरा विवाह करती है।

निचला होंठ यदि बाहर की तरफ निकला हो तो कहा जाता है कि वह महिला मुंहफट और ताने मारने वाली होती हैं घने और लहरदार बाल वाली महिलाएं स्वभाव से जिद्दी होती हैं। किसी भी काम को करने से पहले उसके बारे में सोच-विचार करना इन्हें बेवकूफी ही लगता है। वैसे सच यह भी है कि ये अपने मन की करती हैं और कामुक प्रवृत्ति की होती हैं !

From Around the web