डिलीवरी के बाद इस तरह के बदलाव से गुजरती हैं महिलाएं

गर्भावस्था के दौरान महिलाएं डिलीवरी के लिए जितनी बेचैन होती हैं, उतना ही यह जानने के लिए उत्सुक होती हैं कि आखिर डिलीवरी के बाद उनके शरीर में किस-किस तरह के बदलाव होंगे। वैसे भी महिलाओं का शरीर में ताउम्र बदलाव होते रहते हैं। ऐसे में डिलीवरी के बाद भी कई तरह के बदलाव होते
 
डिलीवरी के बाद इस तरह के बदलाव से गुजरती हैं महिलाएं

गर्भावस्था के दौरान महिलाएं डिलीवरी के लिए जितनी बेचैन होती हैं, उतना ही यह जानने के लिए उत्सुक होती हैं कि आखिर डिलीवरी के बाद उनके शरीर में किस-किस तरह के बदलाव होंगे। वैसे भी महिलाओं का शरीर में ताउम्र बदलाव होते रहते हैं। ऐसे में डिलीवरी के बाद भी कई तरह के बदलाव होते हैं। अगर आप नहीं जानती हैं इन बदलावों के बारे में तो हम कर रहे हैं आपकी मदद।

ड्राई स्किन

बच्चे के जन्म के बाद जिन महिलाओं की स्किन ड्राई हो जाती है। उनकी त्वचा पहले से और भी अधिक रूखी हो जाती है। गर्भावस्था में स्तन, पेट और जांघों की त्वचा खिंच जाती है। इस खिंचाव के कारण महिलाओं के शरीर की त्वचा पर हल्के रंग के दाग दिखाई पड़ने लगते हैं।

वेट गेन

गर्भावस्था के दौरान वजन तो बढ़ता ही है लेकिन प्रसव के बाद भी महिलाओं का वजन अधिक ही बना रहता है। अधिक चिकनाईयुक्त भोजन करने, मेवे आदि के सेवन के कारण महिलाओं का भार बढ़ता चला जाता है। जिन महिलाओं का वजन अधिक होता है। उनके शरीर पर पके हुए लाल रंग के घाव दिखाई पड़ने लगते हैं। शरीर के वजन को कम करने के लिए किसी विशेषज्ञ की देखरेख में व्यायाम करना चाहिए।

हेयर फाॅल

बच्चे के जन्म के बाद महिलाओं के सर के बालों का टूटना, पतला होना, बालों का सफेद होना, बालों का न बढ़ना जैसी परेशानियां आम बात है। आमतौर पर यह खुद ही ठीक हो जाते हैं। इस समस्या से बचने के लिए पौष्टिक आहार लें और बालों की उचित देखभाल करें।

From Around the web