ऊंची एड़ी की सैंडल पहनने से होते है ये नुकसान : सर्वे

एक सर्वे के अनुसार, 50 %महिलाओं ने स्वीकारा कि ऊंची एड़ी की सैंडल पहनने से उनके पैरों को तकलीफ पहुंचती है. एक तिहाई महिलाओं का कहना था कि फैशन के नाम पर वह ऐसी सैंडल भी पहन लेती है जो पांव में फिट नही होती. आईये जानते हाई हिल्स के और नुक़सान :- नियिमित ऊंची
 
ऊंची एड़ी की सैंडल पहनने से होते है ये नुकसान : सर्वे

एक सर्वे के अनुसार, 50 %महिलाओं ने स्‍वीकारा कि ऊंची एड़ी की सैंडल पहनने से उनके पैरों को तकलीफ पहुंचती है. एक तिहाई महिलाओं का कहना था कि फैशन के नाम पर वह ऐसी सैंडल भी पहन लेती है जो पांव में फिट नही होती. आईये जानते हाई हिल्स के और नुक़सान :-

नियिमित ऊंची एड़ी की चप्पल पहनने से पेट आगे की तरफ़ निकलने लगता है और पुट्ठे पीछे की तरफ़ जाने लगते हैं. इसकी वजह से रीढ़ की हड्डी पर पड़ने वाला शरीर का भार असंतुलित हो जाता है. हाई हील ज़्यादा देर तक पहनने से पैरों की अंगुलियों में अकड़न शुरू हो सकती है तथा पैरों की नसों को भी क्षति पहुंच सकती है.

हाई हील पहनने पर शरीर का पूरा भार एड़ी पर पड़ता है, इससे पंजा तेजी से ज़मीन की तरफ़ दबता है. यह बार-बार अप्राकृतिक दबाव पंजे को कमज़ोर करता है. हाई हील पहनने से पैरों की पोज़ीशन बदल जाती है। इसकी वजह से जंघापेशी छोटी होती जाती है.

आपको पता है हाई हील का प्रयोग करने से टखनों के आसपास की मसल्स का तनाव बढ़ जाता है, सेंटर ऑफ़ ग्रेविटी फ़ारवर्ड शिफ़्ट होने से पीठ में दर्द शुरू हो जाता है.

From Around the web